25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है, भूलकर भी ना करें ये गलती

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है – पीरियड्स महिलाओं को हर महीने आते हैं जिसे मासिक धर्म भी कहा जाता है। पीरियड्स महिलाओं को किशोरावस्था से आना शुरू हो जाते हैं। पीरियड आने का मतलब यह हैं कि महिला गर्भ धारण करने के लिए तैयार हैं।

पीरियड्स के दौरान महिला शरीर से रक्त का निकलता है। कई बार इसमें तेज ब्लीडिंग होती है तो कभी बिलकुल कम। आमतौर पर महिलाओं के पीरियड्स 22 से 38 दिन के बीच होती है। लेकिन बहुत सारी महिलायें ऐसी होती हैं जिन्हें पीरियड्स अनियमित होते हैं।

पीरियड्स के जल्दी आने और लेट आने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि 25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है। तो इस महत्वपूर्ण जानकारी को पाने के लिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है
25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है

25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है – 25 Din Me Period Aane Ka Kya Karan Hai

महिलाओं को पीरियड्स आना एक नेचुरल प्रक्रिया हैं जिसमें महिला के शरीर में कई तरह हार्मोनल बदलाव होने से ओवरी में अंडे बनते हैं। जब पुरुष का स्पर्म इस अंडे से मिलता है तो निषेचन की प्रक्रिया होती है जिससे महिला प्रेगनेंट हो जाती है। लेकिन अगर यह अंडा फर्टाइल नहीं होता हैं तो यह महिला की यो.नी के मार्ग से रक्त के थक्का के रूप में बाहर निकल जाता है।

जब यह अंडा रक्त के रूप में बाहर निकलता हैं तो इसे मासिक धर्म या पीरियड कहते हैं। पीरियड्स 3 दिनों तक चलते हैं इस दौरान महिला को तेज दर्द का अनुभव होता हैं। बहुत सारी महिलाओं की यह समस्या होती हैं कि उनके पीरियड्स बहुत जल्दी आ जाते हैं। अगर यह समस्या एक बार हुई है तो चिंता की बात नहीं है। पर अगर यह आपके साथ लगातार हो रही है तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

यहाँ पर हम बताने जा रहे हैं कि 25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है

(1) तनाव

अगर कोई महिला अत्यधिक तनाव लेती है तो उसे पीरियड्स की अनमियता का सामना करना पड़ सकता है। अत्यधिक तनाव लेने से आपके हार्मोन पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है जिस वजह से आपको जल्दी पीरियड्स आने की समस्या हो सकती है।

(2) वजन

महिला हो या पुरुष उम्र बढ़ने के साथ-साथ आपका वजन भी संतुलित होना चाहिए। कई महिलाये ऐसी होती हैं जिनका वजह बहुत कम होता है तो वहीँ कुछ महिलायें ऐसी भी होती हैं जिनका वजन बहुत अधिक होता है।

संतुलित वजन ना होने से पीदियड्स की अनियमिता और अन्य शारीरिक समस्याएं होने लगती है। इसलिए चाहे, आपका वजन तेजी से घट रहा हो या बढ़ रहा हो, यह आपके हार्मोन पर प्रभाव डालता है। जिससे आपके पीरियड्स प्रभावित हो जाते हैं और समय से पहले आ जाते हैं।

(3) मधुमेह

कई मामलों में मधुमेह के कारण भी पीरियड्स की अनमियता हो जाती हैं। जब आपके शरीर में रक्त शर्करा का स्तर सामान्य से बहुत अधिक हो जाता है तो इसे मधुमेह, डायबिटीज या शुगर की बीमारी कहते हैं।

शरीर में ब्‍लड शुगर लेवल के बढ़ जाने के कारण कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं जिस वजह से महिलाओं में अनियमित पीरियड्स की समस्या हो सकती हैं।

(4) थायराइड

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में थायराइड की समस्या अधिक देखने को मिलती हैं। लगभग दस में से एक महिला को अपने जीवनकाल में थायरॉयड की समस्या हो जाती है। थायरॉइड के साथ सबसे बड़ी दिक़्क़त यह भी है कि लगभग एक तिहाई लोगों को पता भी नहीं चलता है कि उन्हें थायराइड की समस्या हैं।

गर्दन के निचले हिस्से में तितली के जैसी ग्रंथि मौजूद होती है जिसे मेडिकल भाषा में थायराइड कहते हैं। यह ग्रंथि शरीर के कई जरूरी कामों को पूरा करती है। और जब यह थायरॉयड ग्रंथि ठीक तरीके से काम नहीं करती है, तो महिलाओं का मासिक धर्म चक्र अनियंत्रित हो सकता है।

(5) गर्भनिरोधक गोलियाँ

25 दिन में पीरियड आने का एक और कारण भी होता है गर्भनिरोधक गोलियाँ। अगर कोई महिला बहुत अधिक गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं तो उसे अनियमिता पीरियड्स की समस्या हो सकती हैं।

ज्यादा गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने से इसका प्रभाव आपके हार्मोनल साइकिल पर पड़ने लगता है जिस वजह से आपके पीरियड्स अनियमित हो सकते हैं।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि 25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है। हर महीने पीरियड्स आना हमारी सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता हैं। लेकिन कई बार पीरियड्स समय से पहले आ जाते हैं तो कभी समय के काफी बाद पीरियड्स आते हैं।

पीरियड्स की अनियमियता से काफी महिलायें परेशान रहती हैं। लेकिन अगर यह समस्या लगातार आपके साथ हो रही है तो आपको किसी अच्छे डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए।

डिस्क्लेमर – इस पोस्ट में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। इसलिए यहाँ पर बताई गई किसी भी दवा या मान्यता को अमल करने से पहले डॉक्टर या सम्बंधित विशेषज्ञ की परामर्श जरूर लें।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *