बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज, 2 घंटे तक डटे रहेंगे

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज – बचपन में हम लोग कुछ ऐसी गलतियां कर बैठते हैं जिसके परिणाम बाद में भुगतने पड़ते हैं। अधिकतर लोग बचपन की में कई गलतियां करते हैं जैसे गंदे वीडियोस देखना और हस्तमैथुन करना।

बचपन की ये गलतियां नादानी और नासमझी के कारण होती हैं जिनका खामियाजा बाद में भुगतना पड़ता है। बचपन की गलती के कारण व्यक्ति को ज्यादातर गुप्तागो से जुड़ी समस्याएं होने लगती है जैसे शीघ्रपतन, नपुसंकता, खड़ा ना होना, बच्चा पैदा करने में समस्या आदि।

अगर आप भी इन समस्याओं से परेशान हैं तो चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है, क्योंकि आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज कैसे कर सकते हैं।

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज
बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

आज के इस डिजिटल युग में हर काम ऑनलाइन हो गया है, वहीं पुरुषों से लेकर बच्चों तक स्मार्टफोन और इन्टरनेट की सुविधा उपलब्ध है। आज कल के बच्चे बहुत कम उम्र में ही अपने फ़ोन पर गंदी विडियोज, उलटे सीधे फोटोज देखकर उत्तेजित हो जाते हैं और फिर हस्त मैथुन करते हैं।

हस्तमैथुन वीर्य स्खलित करने की असामान्य क्रिया है जिसको करने से उत्तेजना शांत होती है और संतुष्टि मिलती है। कई लोगो को हस्तमैथुन की आदत लग जाती है जिसके कारण वह एक ही दिन में कई बार हस्तमैथुन करने लगते है। ज्यादा हस्त मैथुन करने से व्यक्ति का धीरे-धीरे शरीर कमजोर पड़ने लगता है और कई समस्याएं होने लगती है जैसे शुक्राणुओं की कमी, शीघ्रपतन, नपुसंकता, बाँझपन की समस्या आदि।

इन सभी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए यहाँ हम आपको कुछ तरीके बता रहें हैं जिन्हें अपनाने से बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज किया जा सकता है।

  1. स्वस्थ आहार – बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज के लिए आपको अपने आहार में ऐसी चीजों को शामिल करना चाहिए जिनमे पर्याप्त मात्रा में सभी पोषक तत्व मौजूद हों। आपको ऐसा भोजन करना चाहिए जिसमे पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन हो, साथ ही फल, सब्जियां, अनाज और दूध आदि को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।
  2. व्यायाम – नियमित व्यायाम और योगा करने से शारीरिक स्वस्थ और फिट रहता है। इसलिए बचपन की कमजोरी को दूर करने के लिए आप योग, ध्यान और साँस लेने-छोड़ने वाले व्यायाम कर सकते हैं।
  3. दूध और शहद – बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज करने के लिए दूध और शहद को एक साथ मिलाकर पी सकते है। इस मिश्रण को पीने से आपकी शारीरिक और मानसिक स्थित में सुधार आने लगेगा है।
  4. पर्याप्त नींद – हमें रोजाना 6 – 8 घंटे की पर्याप्त नींद लेना चाहिए। पर्याप्त नींद लेने से शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहता है।
  5. अत्यधिक तनाव – अत्यधिक तनाव लेने से कई प्रकार की शारीरिक समस्याएं होने लगती है। तनाव को दूर करने के लिए आप मेडिटेशन और योग कर सकते हैं।
  6. अखरोट – बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज करने में अखरोट का सेवन करना आपके लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है। अखरोट में ऐसे गुण मौजूद होते है जो रक्त संचार को तेज करते हैं जिससे पुरुषों का औजार लम्बे समय तक खड़ा रहता है और शारीरिक सम्बन्ध बनाने में आने वाली समस्या भी दूर हो जाती है।

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज पतंजलि दवा से

पतंजलि हमारे देश की नंबर एक आयुर्वेदिक कंपनी है जो लगभग सभी प्रकार की आयुर्वेदिक दवाइयों का निर्माण करती है। बचपन की गई गलतियों के कारण या ज्यादा हस्तमैथुन की वजह से शरीर में आयी कमजोरी को दूर करने के लिए पतंजलि आयुर्वेदिक दवा का इस्तेमाल किया जा सकता है।

बचपन की गई गलतियों के कारण हमारे वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कम हो जाती है, वीर्य पतला हो जाता है, शीघ्रपतन और शीघ्र स्खलन जैसी समस्याओं के साथ-साथ तनाव भी बढ़ने लगता है। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए पतंजलि आयुर्वेद दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं।

तो चलिए जानते हैं कि बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज करने के लिए पतंजलि की कौन-कौन सी दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं। यहाँ पर हम आपको सलाह देंगे कि किसी भी दवा का सेवन करने से पहले आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

(1) दिव्य शिलाजीत कैप्सूल – Patanjali Shilajeet Capsule

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज करने के लिए दिव्य शिलाजीत कैप्सूल का इस्तेमाल किया जा सकता है। जो पुरुष शारीरिक सम्बन्ध बनाने से जुडी समस्या का सामना कर रहे हैं उन्हें दिव्य शिलाजीत कैप्सूल का इस्तेमाल करना चाहिए।

पतंजलि दिव्य शिलाजीत कैप्सूल पुरुषों की शारीरिक कमजोरी को दूर करता है। साथ ही शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने, नपुंसकता, शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने में भी मदद करता है। इसकी एक कैप्सूल को आप रात में सोने से पहले दूध के साथ सेवन कर सकते हैं।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल
पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल

(2) दिव्य अश्वगंधा चूर्ण – Patanjali Ashwagandha Capsule

ऐसे व्यक्ति जो बचपन में किया गया हस्तमैथुन के कारण उन्हें शारीरिक सम्बन्ध बनाने से जुड़ी समस्याएं होती हैं। उनको पतंजलि दिव्य अश्वगंधा चूर्ण का सेवन करना चाहिए। इसका सेवन करने से पुरुष अपनी खोई हुई शारीरिक शक्ति को पुनः प्राप्त कर सकते हैं।

दिव्या अश्वगंधा चूर्ण का प्रयोग से शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर होती है। साथ ही शरीर में स्पर्म काउंट की मात्रा बढ़ाने के लिए भी दिव्य अश्वगंधा चूर्ण का सेवन किया जा सकता है। आधा से एक चम्मच दिव्य अश्वगंधा चूर्ण को दूध, शहद या पानी के साथ सेवन कर सकते हैं।

पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल
पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल

(3) दिव्य शतावर वटी – Patanjali Shatavar Churna

शतावरी एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है जिसका इस्तेमाल कई प्रकार के रोगों को ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। पतंजलि शतावर चूर्ण एक आयुर्वेदिक दवा है जिसका इस्तेमाल पुरुषों में बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज करने में किया जा सकता है।

इसका इस्तेमाल करने से पुरुषों में स्पर्म काउंट बढ़ता है, साथ ही पेट में गैस, बदहजमी, एसिडिटी जैसी अन्य समस्याओं को दूर करने में असरदार होता है। दिव्य शतावर वटी चूर्ण को आप दूध के साथ सेवन कर सकते हैं।

पतंजलि शतावर चूर्ण
पतंजलि शतावर चूर्ण

(4) दिव्य यौवनामृत वटी -Patanjali Divya Youvan Churna

दिव्य यौवनामृत वटी का इस्तेमाल पुरुषों में बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज करने में किया जा सकता है। इस दवा का प्रयोग करने से शारीरिक सम्बन्ध से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है। ऐसे पुरुष जिनके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कम हैं उन्हें दिव्य यौवनामृत वटी का इस्तेमाल करना चाहिए।

खड़ा ना होना, शीघ्रपतन और शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए दिव्य यौवनामृत वटी का इस्तेमाल किया जा सकता है। आमतौर पर एक दिन में दिव्य यौवनामृत वटी की एक टैबलेट का सेवन कर सकते हैं।

पतंजलि यौवन चूर्ण
पतंजलि यौवन चूर्ण

(5) दिव्य चन्द्रप्रभा वटी – Patanjali Divya Chandraprabha Vati

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज करने के लिए पतंजलि दिव्य चन्द्रप्रभा वटी का इस्तेमाल किया जा सकता है। बचपन में किये गए ज्यादा हस्तमैथुन की वजह से हमारे शरीर में कमजोरी आ जाती है। इस शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए और स्पर्मकाउंट बढ़ाने के लिए दिव्य चन्द्रप्रभा वटी का प्रयोग कर सकते हैं।

दिव्य चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग करने से पुरुषों का पतला वीर्य को गाढ़ा होता है। साथ ही पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ती है जिससे शीघ्रपतन और शीघ्र स्खलन की समस्यायें दूर होती है। दिव्य चन्द्रप्रभा वटी की एक गोली को आप पानी या दूध के साथ सेवन कर सकते हैं।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज कैसे कर सकते है। आज के समय में भी अधिकांश पुरुष ऐसे है जो अपने पार्टनर के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने में कई समस्याओं का सामना कर रहे हैं। कई पुरुष ऐसे हैं जिन्होंने बचपन में ज्यादा हस्तमैथुन किया था उसका खामियाजा उन्हें जवानीमें भुगतना पड़ रहा है। अगर आप भी बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज करना चाहते हैं तो इस पोस्ट में बताये गए तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

नोट – इस पोस्ट में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. इसलिए यहाँ पर बताई गई किसी भी दवा या मान्यता को अमल करने से पहले डॉक्टर या सम्बंधित विशेषज्ञ की परामर्श जरूर लें।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *