भारत के राष्ट्रपति कौन हैं 2023 में | Bharat Ke Rashtrapati Kaun Hai

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

क्या आप भी जानना चाहते हैं भारत के राष्ट्रपति कौन है 2023 में -Bharat ke Rashtrapati Kaun Hai
. एक भारतीय नागरिक होने के नाते आपको इस प्रकार की जनरल नॉलेज का ज्ञान होना बहुत आवश्यक है. मीडिया में ज्यादातर खबर प्रधानमंत्री और अलग अलग राज्य के मुख्यमंत्री के बारे में दिखाई जाती है. लेकिन राष्ट्रपति से जुडी खबर आपको कुछ ख़ास मौको पर ही देखने को मिलती है जैसे 15 अगस्त, 26 जनवरी और अवार्ड फंक्शन.

राष्ट्रपति एक शक्तिशाली पद होता है, भले ही देश को चलाने का अधिकार प्रधानमंत्री के हाथों में होता है लेकिन भारत का का सर्वोच्च पद राष्ट्रपति को दिया जाता है.सभी देशों के अपने -अपने प्रधानमंत्री और प्राइम राष्ट्रपति होते हैं.उनमे से देशो में केवल राष्ट्रपति शाशन होता है जैसे अमेरिका में राष्ट्रपति शाशन लागू है, इसलिए कार्य करने की सभी शक्तियां राष्ट्रपति के पास होती हैं.जबकि भारत में प्रधानमंत्री को ज्यादा शक्तियां मिलती है.

Page Contents

भारत के राष्ट्रपति कौन हैं – द्रौपदी मुर्मू (जुलाई 25, 2023 से अब तक)

Droupadi Murmu

वर्तमान समय में भारत के राष्ट्रपति श्री मती द्रौपदी मुर्मू हैं. द्रौपदी मुर्मू भारत की पहली आदिवासी राष्ट्रपति है और राष्‍ट्रपति बनने वाली दूसरी भारतीय महिला हैं.

द्रौपदी मुर्मू का जन्म 20 जून 1958 को ओडिशा राज्य के मयूरभंज जिले के बैदापोसी नामक ग्राम में हुआ था। आदिवासी परिवार में जन्मी उनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू है. द्रौपदी मुर्मू के पति का नाम चरण मुर्मु था जो अब इस दुनिया में नहीं हैं. उनके दो बेटे थे जो जिनकी मृत्यु हो गई है और एक बेटी है जिसका नाम तिश्री मुर्मु है. वर्तमान समय में द्रौपदी मुर्मू अपनी बेटी के साथ ही रहती हैं.

श्री रामनाथ कोविन्द (जुलाई 25, 2017 – जुलाई 25, 2023)

ramnath kovind

श्री रामनाथ कोविन्द का जन्म 1 अक्टूबर 1955 को उत्तरप्रदेश में कानपुर जिले के परौख नामक ग्राम में हुआ था. इन्होने बी.कॉम और LLB शैक्षणिक योग्यता प्राप्त की है.

अपने करियर की शुरुआत रामनाथ कोविंद जी ने दिल्ली उच्च न्यायलय से वकालत कर प्रारंभ की थी. इसके बाद केंद्र सरकार के वकील पद को सँभालते रहे. राजनैतिक दौर की शुरुआत इन्होने में  8 अगस्त 2015 को यह बिहार राज्य के राज्यपाल के रूप में शुरू किया. इन्होंने अपने कार्यों को निश्वार्थ भाव से पूरा किया.जिसे देखते हुए इनकों देश की सबसे बड़ी पार्टी यानि भारतीय जनता पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया गया.

20 जुलाई 2017 को राष्ट्रपति निर्वाचन का रिजल्ट आया, जिसमें रामनाथ कोविंद ने कांग्रेस पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति उम्मीदवार मीरा कुमारी को लगभग 3 लाख से अधिक वोटों से हरा दिया. इसके बाद इन्होंने 25 जुलाई 2017 को भारत 14 वें राष्ट्रपति के रूप में राष्ट्रपति पद की शपथ ग्रहण की थी.

श्री प्रणब मुखर्जी (जुलाई 25, 2012 – जुलाई 25, 2017)

श्री प्रणब मुखर्जी का जन्म 11 दिसम्बर 1935 में पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के मिराती गाँव में एक ब्राह्मण परिवार के यहाँ हुआ था. प्रणब मुखर्जी भारत के 13 वें राष्ट्रपति थे. इनकी मृत्यु 3 अगस्त 2020 को दिल्ली के AIIMS अस्पताल में हुई. प्रणब मुखर्जी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में से एक थे जिनको 26 जनवरी 2019 को भारत रत्न से सम्मानित किया गया.

प्रणव मुखर्जी ने अपनी पढाई वीरभूम के सूरी विद्यासागर कॉलेज से पूरी की. जो कलकत्ता विश्वविद्यालय के नाम से जाना जाता है. साल 1969 में कांग्रेस पार्टी के राज्यसभा सदस्य के रूप में अपने राजनैतिक कैरियर की शुरुआत की.उसके बाद कई कैबिनेट पदों को संभाला और और सन् 1982 में भारत के वित्त मंत्री बन गए थे.

सन 1985 के बाद से वह कांग्रेस पार्टी के पश्चिम बंगाल राज्य के अध्यक्ष रह चुके थे.वर्ष 2004 में, जब कांग्रेस पार्टी ने गठबन्धन करके सत्ता में आई, तो प्रधानमन्त्री पद के लिए मनमोहन सिंह को चुना गया, इसके पहले मनमोहन सिंह सिर्फ एक राज्यसभा सांसद थे. वही प्रणव मुखर्जी को लोकसभा में सदन का नेता चुना गया इसके अलावा उन्हें रक्षा मंत्री, वित्तमंत्री, विदेश मन्त्रालय, आर्थिक मामले सहित अलग अलग महत्वपूर्ण मन्त्रालयों के मन्त्री होने का गौरव प्राप्त हुआ.

श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल (जुलाई 25, 2007 – जुलाई 25, 2012)

प्रतिभा सिंह पाटिल भारत की प्रथम महिला राष्ट्रपति बनी थी जिनका कार्यकाल 2007 से 2012 तक रहा.प्रतिभा पाटिल का जन्म 19 दिसंबर 1938 महाराष्ट्र राज्य के जलगांव जिले में हुआ था. इन्होने जलगाँव के मूलजी जेठा कालेज से MA की पढाई की. इसके अलावा कानून की पढा़ई उन्होंने गवर्नमेंट लॉ कालेज (मुंबई विश्वविद्यालय) से किया.

श्रीमती पाटिल ने अपने राजनैतिक कैरियर की शुरुआत 27 की उम्र में किया था. जब वर्ष 1962 में वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के भूतपूर्व मुख्यमंत्री यशवंत राव चव्हाण की देखरेख में महाराष्ट्र विधानसभा की सदस्यता हासिल की.इस दौरान उन्होंने महाराष्ट्र सरकार में राज्यमंत्री, कैबिनेट मंत्री और अन्य महत्वपूर्ण मंत्रालयों का पद संभाला.

60 साल के इतिहास में पहली महिला राष्ट्रपति बनने वाली प्रतिभा पाटिल थी. उन्होंने ने अपने प्रतिद्वंदी भैरोंसिंह शेखावत को तीन लाख से अधिक वोटो से 12 वीं राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की थी.1 जून 2019 को भारत की पूर्व राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल को मेक्सिको अमेरिका ने सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार के रूप में ‘ऑर्डेन मेक्सिकाना डेल एग्वेला एज्टेका’ से सम्मानित किया गया.

डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम (जुलाई 25, 2002 – जुलाई 25, 2007)

डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम का पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुलअब्दीन अब्दुल कलाम है.इन्हें इन्हे मिसाइल मैन भी कहा जाता है. APJ Abdul Kalam का जन्म 15 अक्टूबर 1931 में तमिलनाडु राज्य के धनुषकोडी गाँव में मुस्लिम अंसार परिवार में हुआ था.

ए.पी.जे कलाम ने वर्ष 1950 में मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलजी से अंतरिक्ष विज्ञान में स्नातक की डिग्री प्राप्त की. इसके बाद वर्ष 1962 में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन को ज्वाइन किया जहाँ पर उन्होंने सफलतापूर्वक कई उपग्रह प्रक्षेपण परियोजनाओं कोई सफल बनाया और परियोजना निदेशक के रूप में सर्वप्रथम स्वदेशी उपग्रह प्रक्षेपण यान बनाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

कलाम ऐसे पहले व्यक्ति थें जिन्हें भारत की दोनों बड़ी पार्टिया भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी ने पूरी समर्थन के साथ साल 2002 में भारत के 11 वें राष्ट्रपति के रूप में चुना गया. पांच वर्ष राष्ट्रपति पड़ सँभालने के बाद, उन्होंने शिक्षा, लेखन और सार्वजनिक सेवा का रास्ता अपनाया. भारत के अनुसंधानों और तकनीकी के विकास में महत्वपूर्ण योगदान निभाने के लिए भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न द्वारा सम्मानित किया गया.कलाम का निधन 83 साल के उम्र में 27 जुलाई 2015 को शिलोंग, मेघालय में हुआ.

के. आर. नारायणन (जुलाई 25, 1997 – जुलाई 25, 2002)

के. आर. नारायणन का जन्म केरल राज्य के त्रावणकोर में हुआ था. यही पर उन्होंने त्रावणकोर विश्वविद्यालय से अंग्रेज़ी में स्नातक के डिग्री हाशिल की. उसके बाद लंदन चले गए वहां पर लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स में अर्थशास्त्र की पढाई पूरी की. के. आर. नारायणन को वर्ष 1997 में 10 वें राष्ट्रपति के रूप में चुना गया.9 नवम्बर 2004,नई दिल्ली में
उहोने आख़री सास ली.

डॉ. शंकर दयाल शर्मा (जुलाई 25, 1992 – जुलाई 25, 1997)

डॉ. शंकर दयाल शर्मा का जन्म 19 अगस्त 1918 में मध्यप्रदेश राज्य के राजधानी भोपाल में हुआ था. इन्होने अपनी पढाई आगरा कॉलेज, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, लखनऊ विश्वविद्यालय, फित्ज़विल्यम कॉलेज, कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय, लिंकोन इन् तथा हारवर्ड ला स्कूल से शिक्षा ग्रहण किया.

वर्ष 1940 में वे भारत के स्वतंत्रता आन्दोलन में सम्लित हो गए, इसी दौरान उन्होंने कांग्रेस पार्टी की ज्वाइन कर ली. इसके बाद 1952 में भोपाल के मुख्यमंत्री बन गए, इस पद को उन्होंने वर्ष 1956 तक संभाला और भोपाल का विलय कर अन्य राज्यों में मध्यप्रदेश की गरणा हुई. डॉ. शंकर दयाल शर्मा भारत के 9 वें राष्ट्रपति थे जिनका कार्यकाल जुलाई 25, 1992 से जुलाई 25, 1997 तक रहा.

आर. वेंकटरमण (जुलाई 25, 1987 – जुलाई 25, 1992)

आर. वेंकटरमण का जन्‍म 4 दिसंबर, 1910 में तमिलनाडु राज्य के पट्टुकोट्टय ग्राम में हुआ था.उन्होंने ने मद्रास विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र से स्नातकोत्तर पूरा किया. इसके अलावा उन्होंने इसी विश्वविद्यालय से कानून की पढाई पूरी की.क़ानून की अच्छी जानकारी होने से इनको आजाद भारत की अस्थायी संसद के लिए सदस्य बनाया गया.आर. वेंकटरमण को 1987 में भारत के 8 वें राष्ट्रपति के रूप में चुना गया.

ज्ञानी जैल सिंह (जुलाई 25, 1982 – जुलाई 25, 1987)

ज्ञानी जैल सिंह का जन्म 5 मई 1916 को पंजाब राज्य के संघवान नामक ग्राम में हुआ था.वर्ष 1972 में पंजाब राज्य के कांग्रेस पार्टी के मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए। मुख्यमंत्री कार्यभार सँभालते हुए उन्होंने कई महत्वपूर्ण योगदान दियें जैसे 640 किलोमीटर का गुरु गोविन्द सिंह मार्ग का निर्माण और स्वतंत्रता सेनानियों के लिए पेंशन योजना लागू करना.वर्ष 1987 में ज्ञानी जैल सिंह को भारत के 7 वें राष्ट्रपति के रूप में चुना गया.

नीलम संजीव रेड्डी (जुलाई 25, 1977 – जुलाई 25, 1982)

नीलम संजीव रेड्डी का जन्म 19 मई 1913 में आन्ध्र प्रदेश राज्य के कृषक परिवार में हुआ था. नीलम संजीव रेड्डी अपनी प्रारंभिक शिक्षा थियोसोफिकल हाई स्कूल अंडयार, मद्रास में की थी. वर्ष 1956 में आन्ध्र प्रदेश के काँग्रेस पार्टी से मुख्यमंत्री चुने गए. नीलम संजीव रेड्डी भारत के 6 वें राष्ट्रपति थें जिनका कार्यकाल जुलाई 25, 1977 से जुलाई 25, 1982 तक रहा.

फखरुद्दीन अली अहमद (अगस्त 24, 1974 – फरवरी 11, 1977)

फखरुद्दीन अली अहमद का जन्म 13 मई 1905 को असम राज्य के कचारीघाट में हुआ था.इन्होने अपनी पढाई गोंडा जिले के सरकारी हाई-स्कूल से प्रारंभ की. उसके बाद उच्च शिक्षा पाने के लिए इंग्लैंड चले गए, जहां पर उन्होंनें सेंट कैथरीन कॉलेज, कैम्ब्रिज में अध्ययन किया. फखरुद्दीन अली अहमद भारत के 5 वें राष्ट्रपति थे. जिनका कार्यकाल अगस्त 24, 1974 से फरवरी 11, 1977 तक का था.

वराहगिरि वेंकटगिरि (अगस्त 24, 1969 – अगस्त 24, 1974)

वी वी गिरि का जन्म 10 अगस्त 1894 को ओड़िशा राज्य के ब्रह्मपुर नामक ग्राम में हुआ था. वी वी गिरि भारत के 4 थे राष्ट्रपति थे जिनका कार्यकाल अगस्त 24, 1969 से अगस्त 24, 1974 तक था.वी वी गिरी ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में पर राष्ट्रपति का चुनाव लड़ा था और उनके विपरीत कांग्रेस पार्टी ने राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए नीलिमा संजीव रेड्डी को उतारा था,फिर भी वी वी गिरी भरी मतों से कांग्रेस उमीदवार को हराकर राष्ट्रपति का पद संभाला था.

डॉ. जाकिर हुसैन (मई 13, 1967 – मई 03, 1969)

डॉ. जाकिर हुसैन का जन्म 8 फ़रवरी, 1897 हैदराबाद, तेलंगाना के धनाढ्य पठान परिवार में हुआ था.वे अर्थशास्त्र में रुची रखने वाले  डॉ. जाकिर हुसैन ने पीएच. डी की डिग्री जर्मनी के बर्लिन विश्वविद्यालय से की. डॉ. जाकिर हुसैन भारत के तीसरे राष्ट्रपति और प्रथम मुस्लिम राष्ट्रपति बने थे. जिनका कार्यकाल  मई 13, 1967 से मई 03, 1969 तक रहा.

डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन (मई 13, 1962 – मई 13, 1967)

डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म5 सितम्बर 1888 को तमिलनाडु राज्य के तिरुट्टनी नामक ग्राम में हुआ था. ब्राह्मण परिवार में जन्मे सर्वपल्ली जी ने अपनी पढाई क्रिश्चियन मिशनरी संस्था लुथर्न मिशन स्कूल और मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज से पूरी की.डॉ॰ राधाकृष्णन पूरे विश्व को एक विद्यालय मानते थे. उनका ऐसा मानना था कि शिक्षा से ही मानव मस्तिष्क का विकाश और सदुपयोग किया जा सकता है. इसलिए विश्व को एक ही इकाई मानकर शिक्षा प्रबन्धन का कार्य करना चाहिए.

डॉ॰ राधाकृष्णन को भारत स्वतन्त्रता के बाद इन्हें संविधान गठन के लिए सभा का सदस्य बनाया गया. वर्ष 1952 में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन को भारत के उपराष्ट्रपति और प्रथम उप-राष्ट्रपति रूप में चयन किया गया.वर्ष 1954 में भारत सर्वोच्च सम्मान पुरुस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.5 सितम्बर को इनके जन्मदिन के अवसर पर प्रतिवर्ष ‘शिक्षक दिवस’ मनाया जाता है.

डॉ. राजेंद्र प्रसाद (जनवरी 26, 1950 – मई 13, 1962)

डॉ राजेन्द्र प्रसाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति है. जिनका कार्यकाल जनवरी 26, 1950 से मई 13, 1962 तक रहा.डॉ. राजेंद्र प्रसाद का जन्म 3 दिसम्बर 1884 को बिहार राज्य के जीरादेई नामक ग्राम में हुआ था. इहोने अपनी प्रारंभिक शिक्षा छपरा के सरकारी स्कूल से प्रारंभ की.उसके बाद कोलकाता विश्वविद्यालय से डिग्री हासिल किया.

डॉ राजेन्द्र प्रसाद भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख नेताओं में से एक थे. यही से उनको कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष चुना गया. भारतीय संविधान के निर्माण में डॉ राजेन्द्र प्रसाद का महत्वपूर्ण योगदान रहा. वर्ष 1962 में भारत सर्वोच्च सम्मान पुरुस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.अपने जीवन के आख़िरी महीने व्यतीत करने के लिए पटना के निकट सदाकत आश्रम में रहते थे.यहीं पर 28 फ़रवरी 1963 को उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया.

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट भारत का राष्ट्रपति कौन हैं Bharat ke Rashtrapati Kaun Hai जरुर पसंद आया होगा.इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर भी शेयर करें जिससे लोगो को अब तक भारत मे कितने औऱ कौन-कौन राष्ट्रपति बने है जानकारी मिले.

अन्य पढ़ें –

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *