Carboxymethylcellulose Eye Drops Uses in Hindi, 100% कारगर है ये दवा

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Carboxymethylcellulose Eye Drops Uses in Hindi – जब भी हमारी आंखों में कोई समस्या होती है तो डॉक्टर ड्रॉप डालने की सलाह देते हैं। ड्रॉप से आंखों की छोटी-मोटी समस्यायें दूर हो जाती है। आंखों में संक्रमण, आंखों में खुजली, आंख की मामूली चोट या ग्लूकोमा जैसी सामान्य बीमारी के लिए आप आईड्रॉप का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आंखों के इलाज के लिए बाजार में कई प्रकार के आईड्रॉप उपलब्ध है जिनका इस्तेमाल आप कर सकते हैं। इन्ही ड्रॉप्स में एक कार्बोक्सी मिथाइल सेल्यूलोज (Carboxymethyl Cellulose) है जो आंखों में सूखापन, जलन और परेशानी से राहत दिलाता है।

आज के इस पोस्ट में हम विस्तार से जानेगे कि कार्बोक्सी मिथाइल सेल्यूलोज क्या है और इस दवा का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं।

Carboxymethylcellulose Eye Drops Uses in Hindi
Carboxymethylcellulose Eye Drops Uses in Hindi

कार्बोक्सी मिथाइल सेल्यूलोज आईड्रॉप क्या है – What is Carboxymethylcellulose Eye Drops in Hindi

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज एक ऑई ड्रॉप है जिसका इस्तेमाल सूखी आंखों के इलाज के लिए किया जाता है। यह दवा आंखों में सूखेपन के कारण होने वाली जलन और परेशानी छुटकारा दिलाने में मदद करती है।

लगातार हीटिंग, एयर कंडीशन और कंप्यूटर चलाने से आँखों में थकान और सूखापन होने लगता है। ऐसे में अपनी आँखों को सूखेपन, जलन और खुजली जैसी समस्याओं से बचाने के लिए आपको कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज दवा का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

कार्बोक्सिमिथाइलसैल्युलोज़ ऑय ड्राप आपकी आँखों में एक प्रकार का नकली आंसू की तरह काम करता है और आपकी आँखों को नम करता है।

कार्बोक्सी मिथाइल सेल्यूलोज का उपयोग – Carboxymethylcellulose Eye Drops Uses in Hindi

कार्बोक्सी मिथाइल सेल्यूलोज (Carboxymethylcellulose) का इस्तेमाल आंखों की ड्रायनेस को खत्म करने के लिए किया जाता है। Carboxymethylcellulose एक लुब्रिकेंट की तरह काम करता है जिससे आंखों में सूखेपन की समस्या, खुजली और धूल या तेज हवा से आंखों में होने वाली जलन में फायदेमंद होता है।

Carboxymethylcellulose को आँखों में डालने से आँखों की सतह को गीला करके सूखेपन और जलन की समस्या को दूर करता है। यह दवा आँखों लम्बे समय तक नम बनाये रखता है जिससे आँखों को काफी राहत मिलती है।

Carboxymethylcellulose ड्राप की खुराक और तरीका हर व्यक्ति के अलग अलग हो सकता है। इसलिए इसका इस्तेमाल करने से पहले किसी डॉक्टर या विशेषज्ञ की परामर्श जरूर लें।

आयु वर्गखुराक
व्यस्कबीमारी – आंखों में सूखापन (ड्राई आई सिंड्रोम)
खाने के बाद या पहले – Doctor की सलाह अनुसार
अधिकतम मात्रा –  2 drop
दवा लेने का माध्यम – आंख
दवा कितनी बार लेनी है – 4 बार
दवा लेने की अवधि – 7 दिन
बुजुर्गबीमारी – आंखों में सूखापन (ड्राई आई सिंड्रोम)
खाने के बाद या पहले – Doctor की सलाह अनुसार
अधिकतम मात्रा –  2 drop
दवा लेने का माध्यम – आंख
दवा कितनी बार लेनी है – 4 बार
दवा लेने की अवधि – 7 दिन
किशोरावस्था (13 से 18 वर्ष)बीमारी – आंखों में सूखापन (ड्राई आई सिंड्रोम)
खाने के बाद या पहले – Doctor की सलाह अनुसार
अधिकतम मात्रा –  2 drop
दवा लेने का माध्यम – आंख
दवा कितनी बार लेनी है – 4 बार
दवा लेने की अवधि – 7 दिन
बच्चे (2 से 12 वर्ष)बीमारी – आंखों में सूखापन (ड्राई आई सिंड्रोम)
खाने के बाद या पहले – Doctor की सलाह अनुसार
अधिकतम मात्रा –  1 drop
दवा लेने का माध्यम – आंख
दवा कितनी बार लेनी है – 4 बार
दवा लेने की अवधि – 7 दिन

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज कैसे लेना चाहिए – Carboxymethylcellulose Eye Drops Uses in Hindi

कार्बोक्सिमिथाइलसैल्युलोज़ ऑय ड्राप का इस्तेमाल करते समय आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए –

  • कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए इसके लिए आप किसी डॉक्टर की परामर्श लें।
  • ज्यादातर आई ड्रॉप का इस्तेमाल करने से पहले आपको शेक करना पड़ता है। इसलिए ड्रॉप पर दिए गए निर्देशों को ध्यान से पढ़ें। और फिर उन्ही निर्देशों के आधार पर इस्तेमाल करें।
  • कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज दवा का इस्तेमाल निर्धारित समय अंतराल में ही करें।
  • इस दवा का इस्तेमाल करने से आपकी आँखों की स्थित में क्या बदलाव है। आपके स्वास्थ्य मे पहले से सुधार है या हालात और बिगड़ रहे हैं तो इसकी जानकारी तुरंत अपने डॉक्टर को दें।

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज के साइड इफेक्ट – Side Effects of Carboxymethylcellulose Sodium Eye Drops in Hindi

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज का इस्तेमाल करने से कुछ लोगो में साइड इफेक्ट हो सकते हैं –

  • पहली बार कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज दवा का इस्तेमाल से कुछ लोगो को आपको धुंधला दिखाई दे सकता है।
  • कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज दवा का इस्तेमाल करने से आंखों में जलन, चुभन जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
  • इस दवा का इस्तेमाल करने से स्किन का छिलना, बुखार, घरघराहट, छाती या गले में जकड़न, सांस लेने में दिक्कत हो सकती है।
  • ऐसी कोई भी परेशानी होने पर आपको तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज का इस्तेमाल करने से पहले सावधानियां

इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले किसी डॉक्टर की परामर्श जरूर लेनी चाहिए। डॉक्टर द्वारा बताये गए निर्देशों के अनुसार ही दवा का सेवन करें या कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज दवा पर लिखे गए निर्देशों का पालन करें।

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज का इस्तेमाल करने से अगर आपकी स्थिति में कोई सुधार नहीं होता है या कोई समस्या होती है तो तत्काल अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

तो चलिए जानते हैं कि इस कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज आई ड्राप का इस्तेमाल करते समय कौन-कौन सी सावधानी बरतें।

  • अगर आप वर्तमान समय में कोई दवाई का का सेवन कर रहे हैं तो आपको अपने डॉक्टर की सलाह लेकर ही इस दवा का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • यदि आपको किसी प्रकार की दवा से एलर्जी है तो आप इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लें।
  • अगर आपकी आँखों में कोई कॉन्टैक्ट लेंस हैं तो कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज का इस्तेमाल करने से पहले कॉन्टैक्ट लेंस को हटा लें। क्योंकि कुछ लोगो को इस दवा का इस्तेमाल करने से आंखों में धुंधलाहट की समस्या का सामना करना पड़ता है।
  • यदि आप वर्तमान में किसी भी प्रकार का अपनी आँखों का ट्रीटमेंट ले रहे हैं तो डॉक्टर की सलाह लेकर ही कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज का इस्तेमाल करें।
  • कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज का इस्तेमाल करने से पहले और बाद में हाथों को अच्छी तरह साबुन से धुल लें।
  • प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग करने से महिलाओं को इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से बातचीत करनी चाहिए।

FAQs – Carboxymethylcellulose Eye Drops Uses in Hindi

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज कैसे काम करता है?

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज एक कृत्रिम आंसू होता है जो आंखों की सतह को नम बनाये रखता है जिससे आंखों में सूखेपन और जलन की समस्या से आराम मिलता है।

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज की खुराक बताइए?

कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज आई ड्रॉप के एक से दो बूदें आंखों में डालना चाहिए।

आई ड्रॉप में कार्बोक्सिमिथाइल सेलुलोज का उपयोग क्या है?

आई ड्रॉप में कार्बोक्सिमिथाइल सेलुलोज का उपयोग आंख के सूखेपन, खुजली या धूप के संपर्क में आने के कारण होने वाली जलन से राहत पाने के लिए किया जाता है।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज का उपयोग (Carboxymethylcellulose Eye Drops Uses in Hindi) जरूर पसंद आया होगा। अब आप जान चुके हैं कि कार्बोक्सिमिथाइलसेलुलोज का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए। अगर आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो उसका जवाब पाने के लिए नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

इस पोस्ट में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. इसलिए इस पर अमल करने से पहले किसी डॉक्टर या विशेषज्ञ की परामर्श जरूर लें।

इन्हें भी पढ़े –

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *