कोलगेट से बवासीर का इलाज, सिर्फ 5 मिनट में राहत मिलेगा

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

कोलगेट से बवासीर का इलाज – बवासीर गुदा क्षेत्र से से जुडी एक गंभीर समस्या है। यह समस्या पुरुषों और महिलाओं दोनों को हो सकती सकती है। बवासीर होने की वजह से शौच करते समय रोगी को अत्यधिक पीड़ा होती है।

बवासीर का जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी इलाज कराना बहुत ज़रूरी होता है। समय पर बवासीर का इजाल नहीं होने पर यह समस्या और भी बढ़ती जाती है। आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि कोलगेट से बवासीर का इलाज कैसे किया जा सकता है।

कोलगेट से बवासीर का इलाज
कोलगेट से बवासीर का इलाज

कोलगेट से बवासीर का इलाज – Colgate Se Bawaseer Ka ilaj

बवासीर को Piles या Hemorrhoids के नाम से भी जाना जाता है। बवासीर किसी भी उम्र के लोगो को प्रभावित कर सकता है। बवासीर होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं जिनमे से एक कारण अनुवांशिक भी हो सकता है। अगर आपके परिवार में किसी को बवासीर की समस्या हो रही है तो आपको भी होने का खतरा रहता है।

आप में ज्यादातर कोलगेट का इस्तेमाल दांत साफ़ करने के लिए करते हैं। लेकिन यहाँ पर हम आपको कोलगेट से बवासीर का इलाज करने के तरीके के बारे में बताने जा रहे हैं।

इसके लिए आपको सबसे पहले सफ़ेद कोलगेट लेना है। ध्यान रहे ही सफेद कोलगेट ही लेना है कोई कलर वाला कोलगेट नहीं लेना है। कोलगेट में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं जो बवासीर के बैक्टीरिया को मारता है जिससे बवासीर से राहत मिलती है।

इस पेस्ट को लगाने से पहले बवासीर से प्रभावित हिस्से को सूती कपड़े की मदद से अच्छी तरह साफ़ कर लें। उसके बाद प्रभावित हिस्से पर हल्की हांथो से इस पेस्ट को लगायें है। इससे आपको बवासीर में जलन,खुजली और दर्द की समस्या से राहत मिलेगी।

बवासीर में क्या नहीं खाना चाहिए

बवासीर के मरीजों को अपने खानपान का विशेष ध्यान देना चाहिए, इससे उनके बवासीर में जल्द आराम मिलता है। यहाँ पर हम आपको बताने जा रहे हैं कि बवासीर में क्या नहीं खाना चाहिए।

  • बवासीर के मरीजों को अधिक मसालेदार भोजन नहीं करना चाहिए।
  • मांस मछली, बासी खाना, ज्यादा खटाई न खाएं।
  • आलू बैगन और डिब्बे में पैक भोजन न करें।
  • सिगरेट, शराब और तम्बाकू का सेवन करने से परहेज करें।
  • कॉफी, चाय जैसे कैफीन युक्त पदार्थो का सेवन ना करें।
  • पेट में गैस बनना बवासीर का प्रमुख कारण है. इसलिए पेट में गैस, कब्ज न बनने दे।
  • बवासीर के मरीजों को उड़द कि दाल नहीं खाना चाहिए।
  • जंक फ़ूड और बाहर का खाना बंद करें।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया है कि कोलगेट से बवासीर का इलाज कैसे कर सकते हैं। बवासीर एक एक तकलीफदेह बीमारी होती है। जिसके कारण रोगी को मल त्याद करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।अगर आप बवासीर के मरीज हैं, तो आपको अपने डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए और उनके द्वारा बताये गए आहार, खुराक और जीवनशैली को अपनाना चाहिए।

डिस्क्लेमर – इस पोस्ट में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। इसलिए यहाँ पर बताई गई किसी भी दवा या मान्यता को अमल करने से पहले डॉक्टर या सम्बंधित विशेषज्ञ की परामर्श जरूर लें।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *