बलगम वाली खांसी के लिए घरेलू उपाय | Balgam Wali Khansi Ka Ilaj

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बलगम वाली खांसी के लिए घरेलू उपाय – खांसी एक ऐसी बीमारी है जिसकी वजह हो सकती है गले में कफ, सास कि नाली और फेफड़े में इन्फेक्शन.खांसी ज्यादातर दो तरह कि होती है बलगम वाली खांसी जिसे लोग कफ वाली खासी बोलते है और एक होती है सूखी खांसी. खांसी के छुटकारा पाने के लिए बाजार में कई प्रकार की दवाइयां आती है.

बिना डॉक्टर के परमर्स से कोई दवाई नहीं लेना चाहिए. कुछ ऐसे घरेलु नुख्से है जिन्हें इस्तेमाल कर सभी तरह कि खासी से छुटकारा मिल सकता है चाहे वह बच्चों की खासी हो या फिर बुढो की. आज इस पोस्ट में हम पढेंगे बलगम वाली खांसी के लिए घरेलू उपाय कौन कौन से घरेलु नुख्से है.

बलगम वाली खांसी के लिए घरेलू उपाय – Balgam Wali Khansi Ka Desi Ilaj

balgam wali khansi desi ilaaj
खांसी होना बहुत ही आम बात है. नवजात शिशु से लेकर बड़े-बुजुर्गों तक को हो सकती है. मौसम परिवर्तन या किसी अन्य कारणों से लोगों को खांसी की समस्या हो जाती है.लेकिन क्या आप जानते हैं कि सूखी खांसी या बलगम खांसी का इलाज घर पर किया जा सकता है. खांसी से छुटकारा पाने के लिए नीचे दिए गए कुछ घरेलू नुख्से आजमा सकते हैं.

  1. बलगम वाली खांसी के लिए घरेलू उपाय करने के लिए एक छोटा सा अदरक का टुकड़े को मुह में डालकर कुछ देर तक चूसते रहे इससे काफी आराम मिलेगा.
  2. एक-एक चम्मच पान और अदरक का रस लेकर इसमें गुड या शहद मिला लीजिये. अब इस मिश्रण को हल्का गर्म करके खाने से खासी आना बंद हो जायेगा.
  3. बलगम वाली खांसी के लिए घरेलू उपाय करने के लिए आनार के रस को थोडा सा गर्म करके पीने से खासी से दूर हो जाती है.
  4. 2-4 दाने काली मिर्च के मुह में डालकर चूसने से खासी में आराम मिलता है.
  5. शहद खासी को ठीक करने के लिए फायदेमंद है इसे बच्चे और बूढ़े दोने ले सकते है. दिन में तीन बार (सुबह, दोपहर,शाम) लेने से खासी ठीक हो जाएगी.
  6. यदि आधा चम्मच शहद में एक चौथाई डाल चीनी पावडर मिलकर खाने से खासी ठीक होती है.
  7. चाय में तुलसी के पत्ते डालकर पीने से भी खासी में आराम मिलेगा और यदि रात में खासी आ रही है तो मुह में लौंग रखकर चवाने से खासी चली जाएगी.
  8. यदि गले में कफ जमा हो और गला सूजा हो तो गुनगुना पानी पीजिये. गले कि सूजन और बलगम दोनों दूर हो जाएगी.
  9. आधा-आधा चम्मच शहद और प्याज कर रस पीने से खासी दूर हो जाती है.
  10. यदि सूखी खासी आ रही हो तो तुलसी, अदरक और काली मिर्च वाला काढ़ा पीजिये. बेसन का हलवा जो देसी खी से बना हो खाने से सूखी खांसी में आराम मिलता है.

खासी आने का कारण क्या है – Causes of Cough in Hindi

  1. मौसम में बदलाव आना
  2. धुम्रपान अधिक करना.
  3. धूल- मिट्टी वाले वातावरण में रहने से.
  4. गले और फेफड़े में कैंसर के कारण.
  5. सर्दी इन्फेक्शन से.
  6. टी.वी. या कोई गंभीर बीमारी के कारण.

खासी में परहेज करना चाहिए – Food to Avoid During Cough

  1. खासी आये तो दही, केला चावल नहीं खाना चाहिए.
  2. तला हुआ और ज्यादा मसाले दारे खाने से दूरी बनाकर रखे.
  3. कोल्ड्रिंक और ज्यादा ठाडा पानी नहीं पीना चाहिए.
  4. कुछ गर्म चीज खाकर तुरंत ठंडी चीज नहीं पीजिये.
  5. दूध और दूध से बने अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन ना करें।. इससे खांसी और बढ़ने का खतरा रहता है.

खांसी के प्रकार – Types of Cough in Hindi

  1. तेज खांसी (Acute cough) – ये खांसी अचानक हो जाती है और इसका असर 3 सप्ताह तक बना रहता है.
  2. सामान्य खांसी (Subacute cough) – ये खांसी 3-8 सप्ताह तक बनी रहती है.
  3. जीर्ण (पुरानी) खांसी (Chronic cough) – इस खांसी का असर 8 सप्ताह तक बना रहता है.
  4. बलगम वाली खांसी (Productive cough) – इस प्रकार की खांसी में कफ और बलगम निकलता है.
  5. सूखी खांसी (Dry cough) – इस खांसी के होने से मुख सूखने लगता है और इसमें कफ या बलगम नहीं आता है.
  6. रात में होने वाली खांसी (Nocturnal cough) – यह खांसी केवल रात के समय ही होती है.

कफ वाली खांसी दूर करने का तरीका – Balgam Wali Khansi Ka Desi Ilaj

यदि गले और फेफड़े में कफ जमा हो जाये तो खासे के समस्या और गला बैठने लगता है. कुछ देसी नुख्से अपनाकर कफ वाली खासी को आसानी से ठीक किया जा सकता है.

  1. गर्म दूध के सेवन से कफ वाली खासी से छुटकारा पाया जा सकता है.
  2. सूखा अवला और मुठेली को पीसकर एक मिश्रण बना लीजिये. अब इस मिश्रण को एक चम्मच सुबह खाली पेट खाने से छाती में जमा कफ साफ हो जायेगा.
    अदरक का एक छोटा टुकड़ा छीलकर मुह रखकर चूसने से कफ निकल जाता है और गला साफ़ हो जाता है.
  3. एक बड़े बर्तन में पानी डालकर  इसे उबाल लें और इसका भाप गले में लें. जिससे आपके गले की सिकाई होगी और गले में जमा हुआ कफ ख़त्म हो जाएगा.
  4. गला बैठने के देसी उपाय के लिए सुबह सुबह सौंफ चबाए इससे गले की खराश से छुटकारा मिलता है और बंद गला खुल जाता है.
  5. एक गिलास पानी में एक चम्मच सरसों के बीज डालकर गर्म कर लें.अच्छी तरह उबलने के बाद इसका सेवन करें  जमा हुआ कफ बाहर निकालने में मदद करता है. सरसों के बीज में सल्फर पाया जाता है जो जमे हुए कफ को बाहर निकालने में सहायता प्रदान करता है.

बच्चों की खांसी के घरेलू उपाय – Bachcho Ki Khansi ki Dawa

यदि छोटे बच्चों को बार-बार खांसी आ रही है, तो इसके लिए परामर्श ले सकते है.बच्चों की खांसी के कुछ घरेलू उपाय
भी करने से आराम मिल जता है.

  1. अंगूर के रस में शहद  मिलाकर पीने से बच्चों की खांसी में आराम मिलता हैं.
  2. नीबू के रस में थोड़ा-सा शहद और बहुत सारा पानी मिला लीजिये. 1 वर्ष से ऊपर वाले  बच्चों पिलाने से खाँसी में बहुत आराम मिलता है.
  3. बच्चों की खांसी के घरेलू उपाय के रूप में आँवले के चूर्ण को गुड़ में मिलाकर खाने से खांसी में आराम मिलता है.
  4. बच्चों की खांसी के आयुर्वेदिक उपचार में गाजर के रस में पालक रस मिलाकर सेवन करायें.
  5. 6 बादाम, 3 छोटी इलायची और 2 छुआरा को रात में मिट्टी के कुल्हड़ में भिगोकर रखे. सुबह इसे पीसकर मिश्री और मक्खन के साथ सेवन करने से बच्चों की खांसी में आराम मिलता है.

पतंजलि खांसी की दवा – Khansi Ki Dawa Patanjali

योगगुरु बाबा रामदेव के पतंजलि स्टोर में आपको खांसी की दवा मिल जाएगी. खांसी की दवा पतंजलि के रूप में दिव्य स्वासारी प्रवाही (Divya Swahari Pravahi) का सेवन कर सकते हैं.

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको ये पोस्ट बलगम वाली खांसी के लिए घरेलू उपाय (Balgam Wali Khansi Ka Ilaj) जरुर पसंद आया होगा. यदि आपके पास कोई और बलगम वाली खांसी के लिए घरेलू उपाय है तो हमारे साथ शेयर कर सकते हैं.इस पोस्ट को अपने दोस्तों और रिश्तेदार के साथ में शेयर करें जिससे अन्य लोगो को सही जानकारी होगी.

अन्य पढ़ें –

  • पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय
  • पुराना से पुराना लकवा का इलाज
  • टाइफाइड को जड़ से खत्म करने का इलाज
  • सूजन का रामबाण इलाज
  • पुराने से पुराने झाइयां दूर करने के उपाय
  • WhatsApp Group Join Now
    Telegram Group Join Now

    प्रातिक्रिया दे

    आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *