पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं, भूलकर भी ऐसा न करें

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं – हिन्दू धर्म में लोग अपने ईस्ट देवी-देवता को प्रसन्न करने के लिए वृत्त करते हैं। किसी भी व्रत को करने के लिए उस व्रत के नियम, व्रत में खान-पान, व्रत करने का शुभ दिन, शुभ समय आदि की जानकारी होना चाहिए।

आज के इस पोस्ट हम जानेंगे कि पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं। इसके अलावा हमें जानेंगे कि इस वृत्त का क्या महत्त्व है और किन लोगो को वृत्त रखना चाहिए, यह काफी महत्वपूर्ण होने वाला है, इसलिए इसे अंत तक जरूर पढ़े।

पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं
पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं

पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं

पूर्णिमा के व्रत में नमक नहीं खाना चाहिए। पूर्णिमा के व्रत में आप सफ़ेद नमक की जगह सेंधा नमक खा सकते हैं। व्रत का सीधा संबंध भोजन से जुड़ा होता है इसलिए किसी व्रत में क्या खाना चाहिए क्या नहीं आपको इस बात की जानकारी अवश्य होनी चाहिए।

धर्म शास्त्रों के अनुसार पूर्णिमा के दिन वृत्त करना बहुत शुभ माना जाता है। पूर्णिमा का व्रत भगवान् सत्यनारायण के लिए किया जाता है। इस दिन वृत्त और पूजा करने से परिवार में सुख और समृद्धि आती है।

पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं

पूर्णिमा के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं इसका किसी भी धर्म शास्त्र में स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है। हिन्दू धर्म में सभी विवाहित महिलाएं रोजाना सिंदूर लगाती हैं। सिंदूर सुहागिनों महिलाओं का मुख्य श्रृंगार होता है। हिंदू धर्म में शादी तभी पूर्ण मानी जाती है जब दूल्हा अपनी दुल्हन की मांग भरता है।

विवाहित महिलायें अपने पति के लम्बी उम्र के लिए सिंदूर लगाती है। पूर्णिमा के दिन सिंदूर कुछ महिलाएं लागती हैं तो कुछ महिलायें नहीं लगाती है। सबके अपने-अपने विचार हो सकते हैं क्योंकि धार्मिक ग्रंथों में इसका कोई उल्लेख नहीं है।

पूर्णिमा के दिन बाल धोना चाहिए या नहीं

पूर्णिमा के दिन बाल नहीं धोना चाहिए। पूर्णिमा का दिन बहुत शुभ दिन माना जाता हैं। इस दिन महिलायें वृत्त रखती हैं और अगर आप कोई भी व्रत करते हैं तो आपको उस दिन भूलकर भी बाल नहीं धोने चाहिए।

हमारे धर्म शास्त्रों में भी महिलाओ को बाल धोने को लेकर कई नियम बताये गए हैं। अगर किसी शुभ दिन व्रत रखते हैं तो व्रत वाले दिन बाल धोने से बचना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि व्रत वाले दिन बाल धोने से हमारे घर में नकारात्मक ऊर्जा आने लगती है।

पूर्णिमा व्रत में क्या खाना चाहिए

किसी भी व्रत का सीधा सम्बन्ध खाने से जुड़ा होता है इसलिए वृत्त करने से पहले हमे पता होना चाहिए कि व्रत में क्या खाना चाहिए। अगर हम बात करें पूर्णिमा के व्रत की तो बहुत सारे लोग अपनी-अपनी मनोकामना को पूर्ण करने के लिए पूर्णिमा का व्रत रखते हैं।

लोग वृत्त तो रख लेते हैं लेकिन उनके मन में खाने को लेकर कई सवाल चलते रहते हैं। तो चलिए जानते हैं कि पूर्णिमा व्रत में क्या खाना चाहिए।

(1) दूध खीर

पूर्णिमा व्रत में आप दूध की खीर बनाकर खा सकती है। इसके अलावा दूध से बनी अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकती हैं जैसे साबूदाने की खीर, सेवईया की खीर, चावल के खीर।

(2) ड्राई फूड्स

यदि आप पूर्णिमा का व्रत कर रहे है तो आप ड्राई फूड्स खा सकती है। ड्राई फूड्स में आप काजू, बादाम, किशमिश, अखरोट, पिस्ता, खजूर, खुबानी जैसे चीजों का सेवन कर सकती हैं।

ड्राई फूड्स को भी आप दिन में केवल एक बार ही खाएं तो अच्छा रहेगा। क्योंकि किसी भी वृत्त में अगर आप दिन भर कुछ न कुछ खाते रहते हैं तो फिर व्रत रखने का मतलब नहीं रहता है।

(3) फलों का सेवन

पूर्णिमा व्रत में आप फलों का सेवन कर सकती हैं। फल पूर्ण रूप से शाकाहारी होते हैं जिसका सेवन पूर्णिमा के व्रत में आराम से किया जा सकता है।

इस वृत्त में आप केला, संतरा, अंगूर ,खीरा आदि फलों का सेवन कर सकती हैं। लेकिन इन फलों का सेवन आपको पूजा पाठ करने के बाद ही करना चाहिए।

(4) सिंघाड़े का सेवन

पूर्णिमा के व्रत में आप सिंघाड़े का सेवन कर सकती हैं। इस वृत्त में आप सूखे हुए सिंघाड़े का आटा पीस लें और फिर उस आटे से पूरी, हलवा या अन्य स्वादिष्ट व्यंजन बनाकर सेवन कर सकती हैं।

इसके अलावा पूर्णिमा के व्रत में राजगिरी आटे का हलवा भी खाया जा सकता है। इस हलवे में आप देसी घी, दूध चीनी मेवा इत्यादि डालकर सेवन कर सकते हैं।

(5) साबूदाना की खिचड़ी

पूर्णिमा का व्रत करने वाली महिलायें साबूदाने की खिचड़ी बनाकर खा सकती हैं। इस खिचड़ी को खाने से उनका व्रत खंडित नहीं होगा। साबूदाने की खिचड़ी बनाने के लिए आपको सफ़ेद नमक की जगह सेंधा नमक का इस्तेमाल करना चाहिए।

पूर्णिमा व्रत में क्या नहीं खाना चाहिए

पूर्णिमा के व्रत से लोगो की अलग-अलग प्रकार की आस्था जुडी होती है। इस वृत्त को लेकर लोगो के अलग-अलग विचार हो सकते हैं। लेकिन लगभग सभी वृत्त में हम कुछ चीजों का सेवन कर सकते हैं और कुछ में नहीं।

अगर आप पूर्णिमा का व्रत कर रहे हैं तो आपको खाने में कुछ चीजों का परहेज करना चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि पूर्णिमा व्रत में क्या नहीं खाना चाहिए।

(1) नमक

पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना बर्जित है। हालांकि आप चाहे तो सफ़ेद नमक की जगह सेंधा नमक का सेवन कर सकती हैं। इसके अलावा अगर आप कोई व्यंजन बना रही हैं तो उसमे भी आपको सफ़ेद नमक की जगह सेंधा नमक का इस्तेमाल करना चाहिए।

(2) अंडा

पूर्णिमा के व्रत में आपको अंडा नहीं खाना चाहिए। अंडा एक मांसाहारी होता है इसलिए इस व्रत में आपको अंडा और अन्य मांसाहारी चीजों को नहीं खाना चाहिए।

(3) प्याज और लहसुन

पूर्णिमा के व्रत में प्याज-लहसुन का सेवन करना वर्जित माना जाता है। प्याज और लहसुन को तामसिक भोजन माना गया है इसलिए इसका इस्तेमाल किसी भी व्रत में आपको नहीं करना चाहिए।

FAQs – पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं

पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं?

पूर्णिमा के व्रत में नमक नहीं खाना चाहिए।

पूर्णिमा व्रत में क्या खाना चाहिए?

पूर्णिमा व्रत में आप ड्राई फूड्स, फल, साबूदाना, दूध की खीर जैसे व्यंजन खा सकते हैं।

पूर्णिमा के दिन बाल धोना चाहिए या नहीं?

पूर्णिमा के दिन बाल नहीं धोना चाहिए।

पूर्णिमा के दिन क्या दान करना चाहिए?

पूर्णिमा के दिन किसी ब्राह्मण को सफेद वस्त्र, शक्कर, चावल, दही, चांदी, सफेद फूल, मोती आदि दान करना चाहिए।

पूर्णिमा के कितने व्रत करने चाहिए?

पूर्णिमा के 32 व्रत करना चाहिए।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि पूर्णिमा के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं। अगर कोई महिला पूर्णिमा के व्रत रखती है तो उसे नमक का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर खाना जरूरी है तो सफ़ेद नमक की जगह पर सेंधा नमक का सेवन किया जा सकता है।

अगर आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं। इसके अलावा इस पोस्ट को अपने दोस्त और रिश्तेदारों के साथ सोशल मीडिया भर शेयर करें, जिससे अन्य लोगो को पूर्णिमा के व्रत से सम्बंधित सही जानकारी मिलेगी।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *