टाइटेनिक k2 कैप्सूल का असर कितने घंटे रहता है, 2 घंटे तक खड़ा रहेगा

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

टाइटेनिक k2 कैप्सूल का असर कितने घंटे रहता है – टाइटेनिक k2 कैप्सूल एक आयुर्वेदिक दवा है जिसका इस्तेमाल पुरुषों द्वारा किया जाता है। जिन पुरुषो में नपुंसकता, ढीलापन, स्वप्नदोष, शीघ्रपतन, औजार खड़ा ना होना जैसे गुप्त रोग होते हैं उन्हें यह दवा लेने की सलाह दी जाती है।

हर कोई चाहता है कि शारीरिक सम्बन्ध के दौरान अपने पार्टनर को पूर्ण रूप से संतुष्ट करें। अगर आप अपने वैवाहिक लाइफ से खुश नहीं है और शारीरिक सम्बन्ध के दौरान अपने साथी को संतुष्ट नहीं कर पाते हैं तो टाइटेनिक k2 का कैप्सूल इस्तेमाल कर सकते हैं।

टाइटेनिक k2 कैप्सूल को लेकर लोगो के मन में कई सवाल चलते हैं जैसे टाइटेनिक k2 कैप्सूल का असर कितने घंटे रहता है, टाइटेनिक k2 कैप्सूल किस काम आता है, टाइटेनिक k2 कैप्सूल कैसे यूज़ करें, टाइटेनिक k2 कैप्सूल के फायदे और नुकसान। इन सभी सवालों के जवाब आपको इस पोस्ट में मिलेंगे, इसलिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

टाइटेनिक k2 कैप्सूल का असर कितने घंटे रहता है
टाइटेनिक k2 कैप्सूल का असर कितने घंटे रहता है

टाइटेनिक k2 कैप्सूल का असर कितने घंटे रहता है – Titanic K2 Capsule Ka Asar Kitne Ghante Rehta Hai

टाइटेनिक k2 कैप्सूल का असर शरीर पर 3 से 4 घंटे तक रहता हैं। लेकिन कुछ पुरुषों में इसका असर कम या और ज्यादा भी हो सकता है। यह व्यक्ति के स्वास्थ्य और स्थिति पर भी निर्भर करता है।

जिस व्यक्ति ने टाइटेनिक k2 कैप्सूल सेवन किया है उसे 24 घंटे के अन्दर दूसरी कैप्सूल नही लेनी चाहिए। यानी कि टाइटेनिक k2 कैप्सूल का सेवन एक दिन में केवल एक ही बार करना चाहिए।

टाइटेनिक k2 कैप्सूल किस काम आता है – Titanic K2 Capsule Kis Kaam Aata Hai

टाइटेनिक k2 कैप्सूल का सेवन करने से पुरुषों में शीघ्रपतन, नपुसंकता, स्वप्नदोष, ढीलापन, जैसे गुप्त रोगों से छुटकारा मिलता है। शरीर में थकान और कमजोरी को दूर करने के लिए भी टाइटैनिक k2 कैप्सूल लेने की सलाह दी जाती है।

टाइटेनिक k2 कैप्सूल लेने से इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या ठीक होती है। जिन पुरुषों में जोश की कमी या उनका शारीरिक सम्बन्ध बनाने का मन नहीं करता है, ऐसे में टाइटेनिक k2 कैप्सूल लेने से उनमे मर्दाना ताकत और जोश में बढ़ोत्तरी होती है।

टाइटेनिक k2 कैप्सूल कैसे यूज़ करें – Titanic K2 Capsule Kaise Use Kare

टाइटेनिक k2 कैप्सूल को आप खाना-खाने के पहले या खाना-खाने के बाद सेवन कर सकते हैं। इसकी एक कैप्सूल को गुनगुने दूध के साथ सेवन कर सकते हैं। अगर दूध उपलब्ध नहीं है तो इसे पानी के साथ सेवन कर सकते हैं।

टाइटेनिक k2 कैप्सूल को शारीरिक सम्बन्ध बनाने से 1 घंटे पहले खाना चाहिए। यह दवा खाने के तुरंत बाद अपना असर नहीं दिखाती है इसलिए Se*x करने से 1 घंटे पहले सेवन कर सकते हैं।

अगर आप टाइटेनिक k2 कैप्सूल लेने का मन बना रहे है तो इस दवा को लेने से पहले किसी डॉक्टर की सलाह जरूर लें। डॉक्टर आपके स्वास्थ्य और स्थिति की जांच करके इसकी सही खुराक लेने की दिशानिर्देश देंगे।

टाइटेनिक k2 कैप्सूल के फायदे – Titanic K2 Capsule Ke Fayde

टाइटेनिक k2 कैप्सूल में कई प्रकार के प्राकृतिक जड़ी-बूटियों का मिश्रण होता है जिनमें प्रमुख रूप से स्वर्ण भस्म, अभ्रक भस्म, पाइरेथ्रम रेडिक्स, टर्मिनलिया अर्जुन, किथानिया सोम्निफेरा, शतावरी, सिद्ध मकरध्वज भस्म, क्रोकस सैटिवस। ये सभी आयुर्वेदिक तत्व पूरे शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं।

यहाँ पर हम आपको बताने जा रहें हैं कि टाइटेनिक k2 कैप्सूल के फायदे क्या-क्या होते हैं –

  • टाइटेनिक k2 कैप्सूल का सेवन करने से बिस्तर में आपकी टाइमिंग बढ़ती है जिससे आप लम्बे समय तक अपनी महिला साथी के साथ बिस्तर में टिके रहते हैं।
  • कुछ लोगो को Se*x के बारे में सोचने या बचपन की गलतियों के कारण स्वप्नदोष / नाइट फॉल की समस्या होने लगती है। स्वप्नदोष / नाइट फॉल की समस्या को दूर करने के लिए टाइटेनिक k2 कैप्सूल का सेवन कर सकते है।
  • शारीरिक सम्बन्ध के दौरान पुरुषों का औजार सख्त और टाइट रहना चाहिए नहीं तो इस क्रिया में मजा नहीं आता है। टाइटेनिक k2 कैप्सूल लेने से आपका औजार सख्त और टाइट हो जाएगा।
  • बहुत सारे पुरुषों के औजार में काफी संवेदनशीलता होती है जिस वजह से जल्दी स्खलित हो जाते हैं। टाइटेनिक k2 कैप्सूल का सेवन करने से उनके औजार की नसें मजबूत होती हैं और शीघ्र स्खलन की समस्या दूर होती है।
  • अगर आप शारीरिक सम्बन्ध बनाने के दौरान थकान और कमजोरी महसूस करते हैं तो इस दवा का सेवन से आपकी यह समस्या दूर हो सकती है।
  • बहुत सारे पुरुष इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या से परेशान रहते हैं यह समस्या ज्यादातर 40 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले पुरुषों को होती है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या होने पर उनके औजार में पर्याप्त इरेक्शन नहीं बन पाता है। इस दवा को लेने से उनके औजार की नसें मजबूत होती हैं, जिससे ढीलापन व इरेक्शन ना बन पाने की समस्या को दूर होती है।
  • कई पुरुष जोश में कमी होने की वजह से Se*x का मजा नहीं ले पाते हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए टाइटेनिक k2 कैप्सूल लेने की सलाह दी जाती है।
  • टाइटेनिक k2 कैप्सूल का सेवन करने से शारीरिक संबध बनाने के दौरान खासतौर पर वीर्यस्खलन के समय होने वाली शरीर में कपकपाहट या थरथराहट की समस्या दूर होती है।
  • बढती उम्र के साथ कई पुरुषों में Sex करने का मन नहीं करता है वो सम्बन्ध बनाने से कतराते हैं। ऐसे Sex की इच्छा को बढ़ाने के लिए टाइटेनिक k2 कैप्सूल लेने की सलाह दी जाती है।

टाइटेनिक k2 कैप्सूल के नुकसान – Titanic K2 Capsule Ke Nuksan

टाइटेनिक k2 कैप्सूल एक आयुर्वेदिक दवा है जिसका सेवन करने किसी भी प्रकार के साइड-इफ़ेक्ट या नुकसान देखने को नहीं मिलता है। लेकिन इस दवा का अधिक मात्रा में सेवन करने से से कुछ नुकसान देखने को मिल सकते हैं।

यहाँ पर हम आपको बताने जा रहें हैं कि टाइटेनिक k2 कैप्सूल के नुकसान क्या-क्या होते हैं –

  • टाइटेनिक k2 कैप्सूल का अधिक मात्रा में सेवन करने से सिरदर्द की समस्या हो सकती है।
  • कुछ लोगो में इस दवा का सेवन करने से दस्त और पेट से सम्बंधित समस्याएं हो सकती हैं।
  • अगर टाइटेनिक k2 कैप्सूल को अधिक मात्रा में ले ली जाए तो इससे आपको सीने में जलन हो सकती हैं।
  • टाइटेनिक k2 कैप्सूल में कुछ ऐसे घटक भी मौजूद होते हैं जिससे कुछ लोगो को एलर्जी की समस्या हो सकती है।
  • टाइटेनिक k2 कैप्सूल का सेवन शराब पीने के बाद ना करें क्योंकि यह दवा एल्कोहल के साथ मिलकर विपरीत प्रभाव डाल सकती हैं।
  • इस दवा का ओवरडोज लेने से जी मचलना और घबराहट जैसी समस्या हो सकती है।
  • अगर आप इस दवा का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो अनिद्रा की समस्या हो सकती है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि टाइटेनिक k2 कैप्सूल का असर कितने घंटे रहता है। टाइटेनिक K2 कैप्सूल एक आयुर्वेदिक दवा है जिसे कई प्रकार की नेचुरल जड़ी बूटियों को मिलाकर बनाया गया है। इसका उपयोग करने से पुरुषों में होने वाली SE*x समस्याओं जैसे नपुंसकता, स्वप्नदोष, ढीलापन, शीघ्रपतन से छुटकारा मिलता है।

टाइटेनिक k2 कैप्सूल का असर 3-4 घंटे तक रहता है। टाइटैनिक के2 कैप्सूल का सेवन करने से आपके औजार में रक्त के प्रवाह की गति तेज होती है साथ आपका औजार सख्त और तनकर खड़ा हो जाता है, जिससे आप लम्बे समय तक बिस्तर में टिके रहते हैं।

डिस्क्लेमर – इस पोस्ट में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. इसलिए यहाँ पर बताई गई किसी भी दवा या मान्यता को अमल करने से पहले डॉक्टर या सम्बंधित विशेषज्ञ की परामर्श जरूर लें।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *