विवाहित स्त्री बिना संबंध के कितने दिनों तक रह सकती है, दंग रह जायेंगे

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

विवाहित स्त्री बिना संबंध के कितने दिनों तक रह सकती है – पति-पत्नी का रिश्ता एक अनोखा रिश्ता होता है। यह एक विश्वास कर रिश्ता होता है जिसमे ज़िंदगी के हर घड़ी एक-दूसरे के साथ खड़े रहते हैं। कई बार पति-पत्नी को अलग-अगल रहना पड़ता है इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे पत्नी मायके चली गई हो, दोनों के बीच झगड़ा हो आदि।

पति-पत्नी के रिश्ते को लेकर लोगो के मन में कई सवाल चलते रहते हैं जैसे विवाहित स्त्री बिना संबंध के कितने दिनों तक रह सकती है या पत्नी पति से कितने दिन तक दूर रह सकती है। इन सभी सवालों के जबाब आपको इस पोस्ट में मिलेंगे, इसलिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

विवाहित स्त्री बिना संबंध के कितने दिनों तक रह सकती है
विवाहित स्त्री बिना संबंध के कितने दिनों तक रह सकती है

विवाहित स्त्री बिना संबंध के कितने दिनों तक रह सकती है

विवाहित स्त्री बिना संबंध के आजीवन रह सकती है। अगर एक विवाहित स्त्री ठान ले, कि उसे अपने इंद्रियों पर काबू रखनी है। तो बड़ी आसानी से बिना शारीरिक संबंध के आजीवन रह सकती है। लेकिन यह विवाहित स्त्री पर निर्भर करता है की उसे कितने दिनों तक बिना संबंध के रहना है।

जिस महिला की नई-नई शादी होती है तो उन महिलाओं को शारीरिक संबंध बनाने की तीव्र इच्छा होती है। उसके बाद वक्त के साथ साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने की इच्छा कम होती जाती है।

एक विवाहित स्त्री को कितना सम्बन्ध बनाना चाहिए इसका कोई सटीक आंकड़ा नहीं है। कुछ महिलायें रोजाना सम्बन्ध बनाती हैं, तो कुछ सप्ताह या महीने में 2-3 संबंध बनाती है। विवाहित स्त्री के संबंध बनाने की अवधि उसकी उम्र, स्वास्थ, पारिवारिक जिम्मेदारी, पार्टनर के साथ संबंध, कामुक इच्छा आदि पर निर्भर करता है।

(1) स्वास्थ ख़राब

शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए दोनों का स्वास्थ अच्छा होना बहुत जरूरी होता है। अगर दोनों में से किसी एक भी व्यक्ति का स्वास्थ अच्छा नहीं है तो शारीरिक सम्बन्ध बनाने में संतुष्टि नहीं मिलेगी।

कई बार कुछ बीमारियाँ ऐसी होती है जो ठीक होने में कुछ दिन, महीने या साल भर लग जाते हैं। ऐसे में विवाहित स्त्री बिना संबंध के लम्बे समय तक रह सकती है।

(2) तनाव होना

जो व्यक्ति तनाव में रहता है उसका फिर किसी काम में मन नहीं लगता है। अगर आपकी पत्नी को किसी बात को लेकर चिंता है तो पति की जिम्मेदारी होती है उसकी चिंता को दूर करना। ये तनाव किसी भी चीज को लेकर हो सकता है जैसे आर्थिक स्थिति, सामाजिक या अन्य।

एक विवाहित स्त्री को तनाव होने पर वह शारीरिक सम्बन्ध बनाना पसंद नहीं करती है। और अगर पति जबरदस्ती करके शारीरिक सम्बन्ध बनता है तो उसे मजा नहीं आएगा। ऐसे में जरूरी है कि उसकी चिंताओं को दूर करें और फिर उसके साथ सम्बन्ध बनायें।

(3) फैमिली प्लानिंग

आज के समय में ज्यादातर लोग अपनी ज़िंदगी का टाइम टेबल बनाते हैं कि हमे इस उम्र तक पढ़ाई करनी है, फिर शादी करना है, शादी के इतने साल बाद बच्चे पैदा करना है वगैरह, वगैरह।

एक विवाहित स्त्री अपने सपने को साकार करने के लिए तब तक फ्री रहती है जब तक उसके बच्चे ना हो। क्योंकि बच्चे होने पर उसकी जिम्मेदारियां और बढ़ जाती है और वह अपने काम को अच्छे से नहीं कर पाती है। इस कंडीशन में विवाहित स्त्री बिना संबंध के कई दिनों, महीनो तक रह सकती है।

(4) रिलेशन बिगड़ना

पति-पति के बीच प्यार,गुस्सा लड़ाई चलता रहता है। कई बार दोनों के रिलेशन इतने बिगड़ जाते हैं कि दोनों एक-दूसरे से अलग हो जाते हैं। जब तक दोनों के रिलेशन अच्छे नहीं हो जाते तब-तक उनके बीच शारीरिक सम्बन्ध नहीं हो पाता है।

दोनों के रिलेशन ठीक होने होने में कुछ दिन, महीने, या साल भी लग सकते हैं। ऐसी स्थिति में एक विवाहित स्त्री बिना संबंध के कई दिनों तक रह सकती है।

(5) बढ़ती उम्र

बढ़ती उम्र के साथ-साथ शारीरिक सम्बन्ध में कमी आने लगती है। एक लडकी या स्त्री 16 वर्ष से 40 वर्ष तक शारीरिक सम्बन्ध बनाने का खूब मन करता है। इसके बाद शारीरिक सम्बन्ध बनाने में की इच्छा धीरे-धीरे कम होने लगती है।

बढ़ती उम्र के साथ-साथ उसके पास कई जिम्मेदारियां भी बढ़ने लगती हैं जैसे पारिवारिक जिम्मेदारियां, बच्चों की जिम्मेदारियां प्रोफेशनल जॉब की जिम्मेदारियां, स्वास्थ्य आदि। इन सभी कारणों की वजह से कई एक विवाहित स्त्री बिना संबंध के कई दिनों तक रह सकती है।

पत्नी पति से कितने दिन तक दूर रह सकती है?

पत्नी पति से ज़िंदगी भर दूर रह सकती है। यह सब पति और पत्नी पर निर्भर रहता है कि उनके सम्बन्ध कैसे हैं। जब पति-पत्नी के बीच मन-मुटाव होने लगता है तो दोनों एक दूसरे साथ रहना पसंद नहीं करते है।

ऐसी स्थिति में ज्यादातार पत्नियाँ अपने मायके चली जाती हैं और पति से दूर हो जाती हैं। दोनों के बीच सबकुछ ठीक होने में कुछ दिन, महीने या साल लग सकते हैं। इस बीच उन दोनों को एक दूसरे की कमी का एहसास होने लगता है।

अगर रूठे हुए थोड़ा भी सच्चा प्यार बाकी होता है तो पुराने गिले सिकवे को भुलाकर दुबारा एक दूसरे के साथ रहने लगते हैं। नहीं तो एक नाराजगी के कारण तालाक तक की नौबत आ जाती है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि विवाहित स्त्री बिना संबंध के कितने दिनों तक रह सकती है। एक विवाहित स्त्री बिना संबंध के कुछ दिन, महीने, साल, या जिंदगीभर रह सकती है। यह सब पति और पत्नी पर निर्भर रहता है कि उनके सम्बन्ध कैसे हैं।

अगर आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं। इसके अलावा इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं, जिससे अन्य लोगो को भी सही जानकारी मिलेगी।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *