पतंजलि मुंह खोलने की दवा, 100% कारगर है ये दवा

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

पतंजलि मुंह खोलने की दवा – मुंह कम खुलने की समस्या ज्यादातर उन लोगो को होती हैं जो हर वक्त गुटखा या पान मसाला चबाते रहते हैं। अगर आप भी गुटखा या पान मसाला खाने के आदि है तो आज ही छोड़ दें क्योंकि इससे आपको अल्सर, मुँह न खुलना या बहुत कम मुँह खुलने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

दरअसल, गुटखा या पान मसाला में निकोटिन, कैफीन, और अन्य रसायन मौजूद होते हैं जिसका सेवन करने से आपके मुंह के ऊतकों को नुकसान पहुचाते हैं। जिसकी वजह से मुंह के अंदर की मांसपेशियां सख्त और कठोर हो जाती हैं, जिससे आपको मुँह खोलने में परेशानी होती है।

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि पतंजलि मुंह खोलने की दवा कौन-कौन सी होती है। तो इस महत्वपूर्ण जानकारी को पाने के लिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

पतंजलि मुंह खोलने की दवा
पतंजलि मुंह खोलने की दवा

पतंजलि मुंह खोलने की दवा – Patanjali Muh Kholne Ki Dawa

पतंजलि भारत की नंबर एक आयुर्वेदिक कंपनी है जिसके निर्माता योगगुरु बाबा रामदेव जी हैं। पतंजलि सभी प्रकार की आयुर्वेदिक दवाइयों को निर्मित करती हैं। अगर आप भी मुँह न खुलना या बहुत कम मुँह खुलने जैसी समस्या का सामना कर रहे हैं तो इससे छुटकारा पाने के लिए पतंजलि की आयुर्वेदिक दवाइयों का सहारा ले सकते हैं।

यहाँ पर हम आपको बताने जा रहे हैं कि पतंजलि मुंह खोलने की दवा कौन-कौन सी हैं।

ImageProductPrice
पतंजलि खदिरादि वटी/ Patanjali Divya Khadiradi Vati

पतंजलि खदिरादि वटी/ Patanjali Divya Khadiradi Vati

Price
पतंजलि मुलेठी क्वाथ/Patanjali Divya Mulethi Kwath

पतंजलि मुलेठी क्वाथ/Patanjali Divya Mulethi Kwath

Price

(1) पतंजलि खदिरादि वटी – Patanjali Divya Khadiradi Vati

पतंजलि खदिरादि वटी एक गुणकारी औषधीय मानी जाती है जिसका इस्तेमाल मुंह के विकारों को दूर करने के लिए किया जाता है। अगर आपके मुंह में छालें हैं या खुटका खाने से की वजह से मुहं खोलने में तकलीफ हो रही है तो यह दवा आपके लिए रामबाण साबित हो सकती है।

पतंजलि खादिरादि वटी में खदिर, मरिच, लवंग, अदरक, हरड़ जैसे प्राकृतिक जड़ी बूटियां शामिल होती हैं। जो मुंह के छालों, सूजन, दर्द और मुंह की मांसपेशियों को स्वस्थ बनाती हैं। जिससे मुँह ना खुलने या मुंह कम खुलने की समस्या दूर होती है।

पतंजलि खादिरादि वटी टेबलेट के रूप में आती है। इसका सेवन करने के लिए खदिरादि वटी टेबलेट को मुंह में रख कर चूसना चाहिए। इसकी 1-2 टेबलेट को दिन में दो बार सेवन कर सकते हैं।

(2) पतंजलि मुलेठी क्वाथ – Patanjali Divya Mulethi Kwath

चिपके मुंह को खोलने के लिए और मुंह के अल्सर को दूर करने के लिए पतंजलि मुलेठी क्वाथ का इस्तेमाल किया जा सकता है। पतंजलि मुलेठी क्वाथ में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं जो मुंह के छालों, सूजन, और मुंह के अंदर की मांसपेशियों को भी मजबूत बनाने में मदद करता है।

पतंजलि मुलेठी क्वाथ काढ़ा के रूप में आता है। इसका सेवन करने के लिए एक कप पानी में 2 चम्मच पतंजलि मुलेठी क्वाथ मिलाकर अच्छी तरह उबाल लें। थोड़ी देर बाद इस मिश्रण को ठंडा कर लें। अब इस मिश्रण से दिन में दो-तीन बार कुल्ला करें।

मुंह खोलने का घरेलू उपचार

मुँह न खोल पाने की समस्या को ट्रिस्मस कहा जाता है। ट्रिस्मस होने पर पीड़ित को मुंह खोलने में दिक्कत, खाना खाने और चबाने में भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

यह एक दर्दनाक स्थिति होती है, जिसकी वजह से दाढ़ में सूजन, दर्द और मांसपेशियां सिकुड़ जाती हैं। आमतौर पर एक स्वस्थ व्यक्ति का मुंह 35 मिलीमीटर से अधिक खुल सकता है। लेकिन ट्रिस्मस की समस्या होने पर पीड़ित व्यक्ति का मुंह 35 मिलीमीटर से कम खुलता है।

अगर समय रहते मुंह न खुलने की बीमारी का इलाज न करवाया जाए, तो यह समस्या पीड़ित व्यक्ति को पर्मानेंट यानी स्थाई भी हो सकती है। अगर यह समस्या आपके साथ भी है तो कुछ घरेलू उपचार कर सकते हैं।

(1) गर्म पानी से कुल्ला

पूरा मुंह ना खुलने की समस्या को दूर करने के लिए गुनगुने पानी से कुल्ला कर सकते हैं। गुनगुने पानी से कुल्ला करने से मुंह की सूजन, दर्द और मांसपेशियों को आराम मिलता है।

इस प्रक्रिया को आप दिन में दो या तीन बार कर सकते हैं।

(2) मुंह को दाएं-बाएं घुमाएं

मुंह की मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए मुंह को दाएं-बाएं घुमाने वाली एक्सरसाइज कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले अपने होंठों को गोल या “O” बनाने की कोशिश करें। जितना आपसे हो सके उतना ही मुंह खोलने का प्रयास करें।

इसके बाद मुंह को दाएं-बाएं दिशा में घुमाएं जिससे कि मसल्स को खुलने में मदद मिलेगी। हर पोजीशन में लगभग 5 से 10 सेकेंड तक रुकें, इसके बाद सामान्य स्थिति में लौट आएं। इस प्रक्रिया को बार-बार को दोहराएं।

(3) हीट थेरेपी का सहारा लें

मुंह खोलने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप हीट थेरेपी का सहारा ले सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले एक कपड़े को हल्का गर्म कर लें और फिर इसे अपने जबड़े के पास ले जाकर सिकाई करें।

इस प्रक्रिया को आप प्रत्येक घंटे में 10 मिनट के लिए कर सकते हैं। जब मुंह का दर्द और सूजन कम महसूस हो, तो मुंह खोलने का प्रयास करें।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि पतंजलि मुंह खोलने की दवा कौन-कौन सी है। मुंह न खुलना एक गंभीर समस्या है, जिसकी वजह से पीड़ित को बोलने, खाना-खाने और खाने के चबाने में दिक्कत होती है। मुंह न खुलने की समस्या ज्यादातर उन लोगो को होती हैं जो दिनों रात गुटखा और पान मसाला का सेवन करते हैं।

मुंह न खुलने की समस्या कई बार कुछ ही समय के लिए होती है और जल्दी ठीक हो जाती है। लेकिन कुछ मामलों में यह समस्या स्थायी भी बन जाती है। अगर मुंह न खुलने की समस्या आपके साथ भी है तो डॉक्टर्स की सलाह लेकर मुंह खोलने की दवा पतंजलि का सेवन कर सकते हैं।

नोट – इस पोस्ट में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. इसलिए यहाँ पर बताई गई किसी भी दवा या मान्यता को अमल करने से पहले डॉक्टर या सम्बंधित विशेषज्ञ की परामर्श जरूर लें।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *