मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है, जिन्हें जानकर दंग हो जाएंगे

मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है – आजकल की युवा पीढी अपनी कामवासना को तृप्त करने के लिए हस्तमैथुन करते हैं। मुठ मारना या हस्तमैथुन की क्रिया करने से शरीर को संतुष्टि मिलती है। हस्तमैथुन को लड़का और लडकी दोनों करते हैं लेकिन लड़कियों के मुकाबले लड़के ज्यादा करते हैं।

लेकिन अगर आप ज्यादा मुठ मारते हैं या एक दिन में कई बार मारते हैं तो इससे आपको शारीरिक और मानसिक समस्याएं हो सकती है।

आज के इस पोस्ट में हम जानेगे कि muth marne se kya hota hai, मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है और मुठ से आई कमजोरी को कैसे दूर कर सकते हैं। इसके अलावा मुठ मारने के फायदे और नुकसान के बारे में भी विस्तार से जानेगे।

मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है
मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है

मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है – Muth Marne Se Kya Shareer Me Kamjori Aati Hai

आज कल की युवा पीढ़ी अपनी यौन उत्तेजना को शांत करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा लेते हैं। हस्तमैथुन करने से काफी मजा आता है लेकिन उसके बाद शारीरिक और मानसिक कमजोरी का अनुभव होने लगता है।

अगर कभी कभी मुठ मारते है तो आपके शरीर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। लेकिन अगर आप एक दिन में कई बार मुठ मारते है तो शरीर में कमजोरी आ सकती हैं।

मुठ मारने से क्या होता है – Muth Marne Se Kya Hota Hai

लड़का हो या लड़की कामवासना की भावना सभी को होती है। इस कामवासना को दूर करने के लिए लोग हस्तमैथुन का सहारा लेते हैं। हस्तमैथुन करने से जो कामवासना शांत हो जाती है और शरीर को आनंद मिलता है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि अत्यधिक हस्तमैथुन करने से आपके शरीर में कई परेशानियाँ भी हो सकती है। यह दो पल का मजा कई बार आपके लिए काफी नुकसानदाया हो सकता है।

ऐसे में आपको हस्तमैथुन बारे में जरूर पता होना चाहिए कि अधिक मुठ मारने से क्या-क्या नुकसान हो सकते है।

(1) याददास्त कमजोर होना

अगर कोई व्यक्ति अत्यधिक मुठ मारता है तो इसका असर उसके दिमाग पर पड़ता है और धीरे-धीरे उसकी याददास्त कमजोर होने लगती है।

याददास्त कमजोर होने से व्यक्ति को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। जैसे अगर आप स्टूडेंट है तो यह गलती बिलकुल भी ना करें। क्योंकि याददास्त कमजोर होने से आप पढाई में कमजोर हो जायेगें।

(2) शारीरिक कमजोरी होना

जो व्यक्ति अधिक हस्तमैथुन करता है तो उसे शारीरिक कमजोरी महसूस होने लगती है।

अगर आपका शरीर कमजोर है तो आप थोडा बहुत भी काम करेंगे तो थकान महसूस होने लगेगी। साथ ही शरीर कमजोर होने से आपकी तबियत अधिक खराब होने लगती है।

(3) धातु रोग होना

अधिक हस्तमैथुन करने से आपको धातु रोग होने का खतरा रहता है। धातु रोग होने से व्यक्ति जब पेसाब करता है तो पेसाब के साथ साथ वीर्य भी निकलने लगता है।

धातु रोग होने की वजह से व्यक्ति को कई तरह की शारीरिक और मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

(4) नपुंसकता

अगर कोई व्यक्ति ज्यादा मुठ मारता है तो उसका लिंग कमजोर पड़ जाता है और वह अपनी पत्नी को गर्भवती नहीं कर पाता।

ज्यादा हस्तमैथुन करने से शुक्राणु कमजोर और शुक्राणुओं की संख्या कम हो जाती है जिस वजह से व्यक्ति को संतान प्राप्ति में काफी दिक्कतों का समाना करना पड़ता है। यह समस्या व्यक्ति की नपुंसकता को दर्शाती है।

(5) वीर्य का पतला होना

जो व्यक्ति ज्यादामुठ मारता है उस व्यक्ति का वीर्य पतला होने लग जाता है। वीर्य पतला होने कई प्रकार की समस्या हो सकती है जैसे संतान प्राप्ति में दिक्कत, थकान महसूस होना, सम्भोग करने का मन ना होना, दुबलापन आदि।

इसके अलावा व्यक्ति का शरीर इतना ज्यादा कमजोर पड़ जाता है कि उसे कई प्रकार की बिमारियों घेरने लगती है।

मुठ मारने के फायदे – Muth Marne Ke Fayde

अगर सीमित मात्रा में मुठ मारा जाए तो सेहत को कई फायदे मिलते हैं।

  • मुठ मारने चिंता और थकान दूर हो जाती हैं।
  • मुठ मारने से एंडोर्फिन हॉर्मोन्स बाहर निकल जाते हैं जिससे एक अच्छी नींद आती हैं।
  • कामवासना को दूर करने के लिए मुठ मार सकते हैं।
  • मुठ मारने से आपकी एकाग्रता शक्ति बढती हैं।
  • जब आप मुठ मारते हैं तो तब एंडोर्फिन हॉर्मोन्स रिलीज होता है जिससे आपकी बेचैनी खत्म होती है और मन को शांति मिलती है।

मुठ मारने के नुकसान – Muth Marne Ke Nuksan

आमतौर पर हफ्ते में 2-3 बार मुठ मारना अच्छा रहता है। लेकिन अगर को व्यक्ति अधिक मुठ मारता है तो उसे कई सारे नुकसान उठाने पड़ सकते हैं।

  • अधिक मुठ मारने से आप नपुंसकता के शिकार हो सकते हैं जिससे बच्चा पैदा करने में मुसीबत आ सकती है।
  • ज्यादा मुठ मारने से आपके लिंग में सूजन आ सकती है जिससे पेसाब करने में दर्द, जलन और अन्य समस्या हो सकती है।
  • मुठ मारने से हमारे शरीर की ऊर्जा शक्ति कम हो जाती हैं जिससे आपको कमजोरी महसूस हो सकती है।
  • ज्यादा मुठ मारने वाले व्यक्ति का वीर्य पतला हो जाता है जिससे कई प्रकार की शारीरिक और मानसिक बीमारियाँ होने का खतरा रहता है।
  • मुठ मारने से आपके शरीर में मौजूद ज़रूरी पोषक तत्व बाहर निकल जाते हैं जिससे आपका शरीर कमजोर पड़ने लगता है।

FASs – मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है

मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है?

हाँ, मुठ मारने से शरीर में मौजूद पोषक पोषक तत्व बाहर निकल जाते हैं और कमजोरी आती है।

मुठ मारने से क्या होता है?

ज्यादा मुठ मारने से कई प्रकार के नुकसान उठाने पड़ सकते हैं जैसे नपुंसकता, लिंग में सूजन, याददास्त कमजोर होना और अन्य समस्या हो सकती है।

मुठ मारने से दिमाग पर क्या असर पड़ता है?

अधिक मुठ मारने से दिमाग कमजोर होता है और सोचने समझने की क्षमता कम होने लगती है।

मुठ मारने से कौन कौन सी बीमारियां होती हैं?

मुठ मारने से कई बीमारियां होने का खतरा रहता है जैसे नपुंसकता, शारीरिक कमजोरी, लिंग में सूजन, बालो की समस्या, दिमाग कमजोर, याददास्त कमजोर होना आदि।

मुठ कितने दिन मे मारनी चाहिए?

आमतौर पर सप्ताह में 2-3 बार मुठ मार सकते हैं।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है जरूर पसंद आयी होगी। अब आप समझ चुके हैं कि अगर आप सीमित मात्रा में मुठ मारते हैं तो फायदे मिलते हैं नहीं तो शरीर को कई सारे नुकसान उठाने पड़ सकते हैं।

अगर यहाँ पर दी गई गई जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Facebook, Twitter, Whatsapp जैसे सोशल मीडिया पर जरूर करें। इसके अलावा अगर आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *