मलद्वार में जलन की दवा पतंजलि, तुरंत राहत मिलेगी

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में लोग गलत खानपान और अनियमित दिनचर्या का पालन करते हैं, जिसकी वजह से कई प्रकार की स्वास्थ्य सम्बंधित समस्याएं होने लगती है। इन्ही समस्याओं में से एक है मलद्वार में जलन होना।

मलद्वार में जलन होने की वजह से व्यक्ति को मल त्याग करते समय काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। यह समस्या महिला और पुरुष दोनों को हो सकती है।

अगर आप भी मलद्वार में जलन और दर्द से परेशान हैं तो इससे राहत पाने के लिए मलद्वार में जलन की दवा पतंजलि का इस्तेमाल कर सकते हैं। आज के इस पोस्ट में हम आपको मलद्वार में जलन का इलाज करने के लिए पतंजलि की आयुर्वेदिक दवाइयों के बारे में जानकारी देंगे।

मलद्वार में जलन की दवा पतंजलि
मलद्वार में जलन की दवा पतंजलि

मलद्वार में जलन की दवा पतंजलि – Maldwar Me Jalan Ki Dawa Patanjali

पतंजलि हमारे की नंबर एक आयुर्वेदिक कंपनी है जिसके संचालक योगगुरु स्वामी रामदेव जी हैं। पतंजलि कंपनी सभी प्रकार की आयुर्वेदिक दवाइयों को निर्मित करती हैं। ऐसे में अगर आपके मलद्वार में जलन है तो पतंजलि की दवा इस्तेमाल कर सकते हैं।

पतंजलि की दवा पूरी तरह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से बनी होती है जिसका इस्तेमाल करने से कोई साइड-इफेक्ट्स नहीं होते हैं या बिलकुल कम होते हैं।

यहाँ पर हम आपको बताने जा रहे हैं कि मलद्वार में जलन की दवा पतंजलि कौन-कौन सी हैं

(1) दिव्य अर्शकल्प वटी – Patanjali Divya Arshkalp Vati

मलद्वार में जलन से राहत पाने के लिए पतंजलि दिव्य अर्शकल्प वटी का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस दवा में रसोट शुद्ध, हरड़, बकयन, निमोली, रीठा, देसी कपूर, मकोय, घृतकुमारी जैसे प्राकृतिक तत्व मौजूद होते हैं।

जो मलद्वार में जलन, सूजन और दर्द को ठीक करने में मदद करते हैं। अर्शकल्प वटी में लैक्सेटिव गुण भी मौजूद होते हैं जो पाचन क्रिया को दुरुस्त करने में मदद करते हैं।

(2) दिव्य अभयारिष्ट – Patanjali Divya Abhyaristh

अगर आप मलद्वार में जलन व दर्द की समस्या से परेशान हैं तो मलद्वार में जलन की दवा पतंजलि – दिव्य अभयारिष्ट का इस्तेमाल कर सकते है। यह एक एक प्रभावशाली दवा है जो बवासीर और भगन्दर के इलाज के साथ पाचन क्रिया को दुरुस्त करती है।

इस दवा में हरड़, मुनक्का, महुआ, वैविडंग, गुड़, गोखरू, निसोथ, धनिया, धैफूल, इंद्रयानमूल, चव्या, सोंठ, दंतीमूल, मोचरस जैसे प्राकृतिक तत्व मौजूद होते हैं। ये सभी तत्व मलद्वार में होने वाली जलन व दर्द को दूर करने में मदद करते है।

(3) दिव्य त्रिफला गुग्गुल – Patanjali Divya Triphala Guggul

दिव्य त्रिफला गुग्गुल पाचन क्रिया को सुधारने साथ-साथ मलद्वार के जलन को कम करने में मदद करती है। इसमें शुद्ध गुग्गुल के पाउडर के साथ हरड़, बहेड़ा और अन्य प्राकृतिक तत्व मौजूद होते है।

दिव्य त्रिफला गुग्गुल एक सुरक्षित एवं कारगर दवा मानी जाती है जिसका सेवन करने से भगंदर, गुदामार्ग में सूजन, बवासीर जैसे रोगों से राहत मिलती है।

(4) इसबगोल भूसी – Patanjali Isabgol Bhusi

इसबगोल भूसी एक आयुर्वेदिक दवा है जिसे साइलियम भी कहा जाता है। इसमें फाइबर की उच्च मात्रा मौजूद होती है जो कब्ज से राहत दिलाने में मदद करती है।

साथ ही इसमें मौजूद लैक्सेटिव गुण मल त्याग प्रक्रिया को आसान बनाते हैं। 5-10 ग्राम इसबगोल भूसी को पानी, दूध या जूस के साथ दिन में 2 बार लेने की सलाह दी जाती है।

(5) दिव्य हरितकी चूर्ण – Patanjali Divya Haritaki Churna

मलद्वार में जलन की दवा पतंजलि के रूप में दिव्य हरितकी चूर्ण का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस चूर्ण को बनाने में मुख्य रूप से हरितकी का इस्तेमाल किया गया है जो आपके पाचनतंत्र को मजबूत बनाने में मदद करती है।

यह दवा बबासीर, कब्ज से राहत दिलाती है साथ ही शरीर से कई तरह के विषाक्त पदार्थो को बाहर निकालने में मदद करती है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि मलद्वार में जलन की दवा पतंजलि कौन-कौन सी हैं। मलद्वार में जलन होने के पीछे बवासीर कब्ज जैसी समस्या हो सकती है इसके अलावा भी अन्य कई कारण भी हो सकते हैं।

मलद्वार में जलन की समस्या होने पर इसका तुरंत इलाज करना चाहिए नहीं तो आपको काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप भी मलद्वार में जलन और दर्द का अनुभव कर रहे हैं तो पतंजलि आयुर्वेदिक दवाइयों का सहारा ले सकते हैं।

डिस्क्लेमर – इस पोस्ट में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. इसलिए यहाँ पर बताई गई किसी भी दवा या मान्यता को अमल करने से पहले डॉक्टर या सम्बंधित विशेषज्ञ की परामर्श जरूर लें।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *