पाद के कितने प्रकार होते हैं, दंग रह जायेंगे जानकर

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

पाद के कितने प्रकार होते हैं – पाद मारना एक सामान्य क्रिया है। पाद मारने से पेट में बनी ज्यादा गैस को बाहर निकल जाती है जिससे आप हल्का और अच्छा महसूस करते हैं। लेकिन कभी-कभार पाद मारने से आप हंसी का भी पात्र भी बन जाते है।

आपने भी अनुभव किया होगा जब आप चार लोगो के बीच बैठे हों और अचानक से पाद निकल जाए तो शर्मिन्दगी महसूस होती है। ज्यादातर पाद बदबूरहित होते हैं लेकिन कई बार पाद मारने से इतना ज्यादा बदबू फ़ैल जाती है कि व्यक्ति का सांस लेना मुश्किल हो जाता है।

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि पाद के कितने प्रकार होते हैं और पाद में बदबू क्यों आती है। पाद को कई लोग गंदा कहते हैं लेकिन हम आपको बता दें कि पाद मारना सेहत के लिए लाभदायक होता है।

पाद के कितने प्रकार होते हैं
पाद के कितने प्रकार होते हैं

पाद के कितने प्रकार होते हैं – Pad Ke Kitne Prakar Hote Hain

जब भी हम कुछ खाते-पीते हैं तो खाने के साथ-साथ हवा भी पेट में चली जाती है। कुछ हवा अवशोषित हो जाती है तो कुछ हवा बाहर निकल जाती है। पेट से हवा निकालने के दो माध्यम होते हैं पहला डकार के माध्यम से और दूसरा पाद के रूप में छोड़ते हैं।

अगर कोई व्यक्ति एक दिन में 25 बार तक पाद मारता है तो इसे बिल्कुल सामान्य माना जाता है। अगर आप सामान्य के मुकाबले अधिक पाद मारते है तो आपको पेट फूलने, सूजन, दर्द और डकार जैसे समस्या हो सकती है। ऐसी स्थिति में आपको डॉक्टर से मिलने की जरूरत है।

पाद भी कई प्रकार के होते हैं जो व्यक्ति के खान-पान, उम्र और अन्य कारकों पर निर्भर करता है। तो चलिए जानते हैं कि पाद के कितने प्रकार होते हैं

(1) Running Fart

यह पाद व्यक्ति तब छोड़ता है जब वह गतिमान अवस्था में हो यानी दौड़ लगा रहा हो। अब व्यक्ति दौड़ रहा होता है और अचानक पेट में गैस बनने के कारण पाद निकल जाता है तो दौड़ने वाले व्यक्ति की चाल कम हो जाती है।

Running Fart भी तेज गंध वाला पाद हो सकता है जो नाक के माध्यम से अंदर जाने पर व्यक्ति को बेचैन कर सकता है। ऐसी स्थिति में अक्सर दौड़ने वाला व्यक्ति पाद मारकर अपनी गति को बढ़ा देता है जिससे दुर्गन्ध उसकी नाक तक न पहुंचे।

(2) False Alarm fart

False Alarm fart बहुत ही बेकार का पाद होता है। इस प्रकार के पाद में व्यक्ति समझ नहीं पाता है कि पाद आ रहा है या उसके साथ में मल। जब पाद छोड़ देता है तब उसे पता चलता है कि पाद के साथ-साथ मल भी निकाल है।

इसकी वजह से व्यक्ति को शर्मिन्दगी का सामना भी करना पड़ सकता है। उसके बाद जितना जल्दी हो सके बाथरूम जाना ही बेहतर होता है।

(3) Laughing Fart

जैसा कि नाम से ही प्रतीत हो रहा है कि हसाने वाला पाद। आपने भी अनुभव किया होगा कि जब आप दोस्तों के साथ किसी कमरे में बैठे हों और उनमे से ही कोई दोस्त जानबूझकर पाद मारकर भाग देता है। उसके बाद सभी लोग ठहाके मारकर हंसने लगते हैं।

यह पाद आवाज में काफी तेज होता है। जिससे सुनकर लोग हसने लगते हैं और और नाक बंद करके दूर भागने की कोशिश करते हैं।

(4) Silent Fart

Silent Fart बहुत खतरनाक पाद होता है। इस प्रकार के पाद में कोई आवाज नहीं आती है लेकिन बदबू बहुत आती है। लेकिन कई बार फुसफुसाहट की वजह से बगल वाले व्यक्ति को पता चल जाता है कि किसने पाद मारा है।

अगर बंद कमरे में किसी ने Silent Fart मार दिया तो सभी लोगो कि हालत ख़राब हो सकती है। यह पाद इतना बदबू करता है कि सांस लेना मुश्किल पड़ जाएगा। जब तक आप दरवाजा नहीं खोलेंगे यह बदबू कमरे में भी फैलती रहेगी।

(5) Sharting Fart

यह पाद थोड़ा कठिन पाद होता है। क्योंकि इस बाद में व्यक्ति को महसूस होता है कि पाद आने वाला है और वह पादने की कोशिश करता है लेकिन जो आ रहा होता है वह पाद नहीं हैं बल्कि मल होता है।

ऐसी स्थिति में आप पाद को रोकने का प्रयास करते हैं। लेकिन कई बार सही समय पर ना रुकने की वजह से आपकी अंडरवियर ख़राब हो जाती है।लेकिन इसका पता आपके अलावा अन्य किसी व्यक्ति को नहीं चलता है।

पाद में बदबू क्यों आती है – Pad Me Badbu Kyu Aati Hai

कुछ व्यक्ति के पादने से इतनी ज्यादा दुर्गन्ध फ़ैल जाती है कि सांस लेना मुश्किल होने लगता है। ऐसा इसलिए होता है कि उनके पाद में हाइड्रोजन सल्‍फाइड गैस शामिल होती है। जिसकी वजह से सड़े हुए अंडों की जैसी दुर्गंध आती है।

लेकिन कई बाद पाद मारने पर किसी को पता भी नहीं चल पाता है क्योंकि ना उससे को आवाज आती है और ना ही दुर्गंध फैलती है। ऐसा इसलिए होता है कि इस प्रकार के पाद में में नाइट्रोजन, ऑक्सीजन, हाइड्रोजन, कार्बन डाइऑक्साइड और मीथेन जैसी गंधहीन गैसें शामिल होती हैं।

जो लोग ज्यादा जंक फूड्स, तैलीय भोजन, स्मोक और कम पानी पीते हैं उनके पाद से ज्यादा बदबू आती है। क्योकि ऐसे लोगो के पेट में सल्फर की मात्रा बढ़ जाती है।

बदबूदार पाद से छुटकारा पाने के लिए आपको बाहर मिलने वाले खाद्य पादर्थ से दूरी बना लेनी चाहिए जैसे फ्राइड फूड्स,जंक फूड्स, बर्गर, पिज्जा आदि नहीं खाना चाहिए। साथ ही जिन खाद्य पर्दाथों में सोडियम की मात्रा ज्यादा हो उनका सेवन नहीं करना चाहिए। प्याज और मूली का सेवन ना करें तो ही अच्छा रहेगा। क्योंकि प्याज और मूली खाने से ना केवल मुंह से बदबू आती है, बल्कि पाद छोड़ने पर और भी ज्यादा बदबू आती है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि पाद के कितने प्रकार होते हैं। पाद हमारे शरीर का एक सामान्य क्रिया होती है जो हानिकारक पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। कई लोग ऐसे होते हैं जो खुलकर पादते नहीं है, क्योंकि वो असहज और शर्मिन्दगी महसूस करते हैं।

लेकिन आपको बता दें कि जो जिस व्यक्ति को पाद नहीं आता है या पाद को रोकने का प्रयास करता है उस व्यक्ति को पेट से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए पादना एक अच्छी चीज है इससे आपकी सेहत अच्छी रहती है। लेकिन अगर आप जरूरत से ज्यादा पाद मार रहे हैं तो आपको एक बार डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *