पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है, करें ये उपाय

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है – शादी के हर पति-पत्नी की इच्छा होती है कि उन्हें भी बच्चे का सुख मिले। अगर कोई महिला प्रेगनेंट नहीं हो रही है तो उस महिला को ही निःसंतानता के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है। जबकि कई बार ऐसा होता है कि निःसंतानता पुरूष के कारण भी हो सकती है।

संतान प्राप्ति के लिए जितनी जिम्मेदारी एक महिला की होती है, उतनी ही जिम्मेदारी एक पुरुष की भी होती है। यानी संतान प्राप्ति के लिए माता-पिता दोनों का 50%-50% योगदान रहता है।

आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे कि पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है। यह एक ऐसा विषय है जिसके बारे में लोग खुलकर बात नहीं करते हैं, लेकिन इसके बारे में सभी को जानना चाहिए, इसलिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है
पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है

पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है?

पुरुष का स्पर्म कम से कम 15 मीलियन शुक्राणु प्रति एम एल होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है। अगर किसी पुरुष के शरीर में शुक्राणुओं को संख्या 15 लाख से कम है तो बच्चा पैदा करने में समस्या हो सकती है।

किसी महिला के प्रेगनेंट होने के पीछे दो तत्व जिम्मेदार होते हैं एक शुक्राणु और दूसरा अंडा। जब पुरुष वीर्य स्खलन करता है तो शुक्राणु प्रजनन के लिए महिला के अंडे से मिलते हैं तो निषेचन होता है और एक भ्रूण का निर्माण होता है।

पुरुष के शुक्राणु महिला के गर्भाशय में कई दिनों तक जीवित रह सकते हैं लेकिन आपके वीर्य में जितने ज्यादा स्वस्थ शुक्राणु होंगे, उतनी ही महिला को गर्भवती होने की सम्भावना बढ़ती है।

नार्मल स्पर्म कितना होना चाहिए?

बच्चा पैदा करने के लिए जिस तरह से एक महिला स्वस्थ रहना बहुत जरूरी होता है उसकी प्रकार से अगर पुरुषों का स्पर्म काउंट कम है, तो बच्चा पैदा करने में समस्या आ सकती है। इसलिए बच्चा पैदा करने के लिए पुरुषों को अपने स्पर्म को हेल्दी और स्पर्म काउंट को बढ़ाना चाहिए।

एक स्वस्थ पुरुष के शरीर में नार्मल स्पर्म 40 से 300 मिलियन होना है। अगर किसी पुरुष का स्पर्म काउंट 40 से 300 मिलियन के बीच नहीं है तो यह लो स्पर्म काउंट माना जाता है। अगर पुरुषों में स्पर्म काउंट कम है तो महिलाओं का गर्भधारण करने समस्या आ सकती है। हालांकि, कुछ माममें ऐसे भी देखने को मिलते हैं जिसमे कम स्पर्म काउंट में भी महिलायें गर्भवती हो जाती हैं।

जब महिला और पुरुष आपस में शारीरिक सम्बन्ध बनाते हैं तो पुरुष वीर्य स्खलन करता है जिसमे लगभग 100 मिलियन शुक्राणु बाहर निकल जाते है। लेकिन महिला के अंडाणु तक पहुचते-पहुचते में लाखों शुक्राणु मर जाते हैं। अगर पुरुष के शरीर में शुक्राणु कम होते हैं, तो महिला के प्रेगनेंट होने की संभावना कम हो जाती है।

लेकिन हां, अगर पुरूष स्वस्थ है और स्पर्म की गुणवत्ता अच्छी है तो महिला के अंडाणु को निषेचित करने के लिए पुरुष का एक शुक्राणु की काफी होता है।

स्पर्म कितना गाढ़ा होना चाहिए?

एक महिला के प्रेगनेंट होने में पुरुष के स्पर्म काउंट का बहुत बड़ा योगदान रहता है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन के अनुसार अगर किसी पुरुष का स्पर्म 15 मिलियन प्रति एम एल से कम हैं तो महिला के गर्भधारण में समस्या हो सकती है।

पुरुषों का स्पर्म कम होने की समस्या को ओलिगोस्पर्मिया भी कहते हैं। कई पुरुष ऐसे भी होते हैं जिनका का स्पर्म कम होने के साथ-साथ पतला रहता है। पुरुष नपुसंकता का आम कारणों में लो स्पर्म काउंट और स्पर्म गाढ़ा न होना भी हो सकता है।

स्पर्म को गाढ़ा और शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए पुरुष आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से निर्मित औषधियों का सेवन कर सकते हैं। शिलाजीत और अश्वगंधा में कई औषधीय गुण मौजूद होते है जो पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के साथ-साथ स्पर्म को गाढ़ा बनाने में सहायक होता है।

Y शुक्राणु बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए?

आपको बता दें कि लड़का या लडकी पैदा होने का तथ्य क्रोमोजोम्स से जुड़ा होता है। पुरुष के शरीर में X और Y क्रोमोजोम्स होते हैं। जबकि महिला के शरीर में XX क्रोमोजोम्स होते हैं। जब पुरुष का X और महिला का X मिलते हैं तो लडकी पैदा होती है। और जब पुरुष का Y और महिला हिला का X मिलते हैं तो लड़का पैदा होता है।

अगर आप लड़का पैदा करना चाहते हैं तो पुरुष का स्पर्म काउंट अच्छा होना चाहिए साथ ही उसके शरीर में Y शुक्राणु का प्रोडक्शन अधिक हो। पुरुष अपने शरीर में Y शुक्राणु बढ़ाने के लिए कुछ खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकते हैं। पुरुषों को दूध और दूध से बनी चीजों का सेवन करना चाहिए जैसे पनीर मावा दही रबड़ी इत्यादि।

शुक्राणु अंदर कैसे जाता है?

जब महिला और पुरुष आपस में शारीरिक सम्बन्ध बनाते हैं तो पुरुष के शुक्राणु प्रजनन के लिए महिला के अंडे से मिलते हैं तो निषेचन होता है और एक भ्रूण का निर्माण होता है। पुरुष के शुक्राणु महिला के शरीर में 24 से 48 घंटों तक जीवित रह सकते हैं।

पुरुष का एक स्वस्थ और उच्च गुणवत्ता वाला शुक्राणु महिला के अंडाणु को निषेचित करके प्रेगनेंट कर सकता है। पुरुष के लाखों स्पर्म अंडे की तरफ़ जाते हैं लेकिन इस दौड़ में बहुत से पीछे छूट जाते हैं, केवल स्वस्थ स्पर्म ही अंडों तक पहुंचकर महिला को प्रेगनेंट करते हैं।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है। आमतौर पर एक पुरुष के शरीर में 40 मिलियन शुक्राणु से 300 मिलियन शुक्राणु होते है। बच्चा पैदा करने के लिए पुरूष के वीर्य में शुक्राणु की संख्या 15 मिलियन प्रति एमएल कम नहीं होना चाहिए नहीं तो गर्भधारण करने में समस्या आ सकती है।

अगर आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं। इसके अलावा इस पोस्ट को अपने दोस्त और रिश्तेदारों के साथ सोशल मीडिया भर शेयर करें, जिससे अन्य लोगो को भी सही जानकारी मिलेगी।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *