बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए, ऐसी गलती भूलकर भी ना करें

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए – शादी के बाद हर कपल्स चाहते कि उन्हें भी बच्चे का सुख मिले। बहुत सारे कपल्स ऐसे होते हैं शादी के कई सालों बाद भी उन्हें बच्चे का सुख नहीं मिलता है। ऐसे में उनके मन में कई तरह के सवाल उठने लगते हैं जैसे बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए, बच्चा पैदा करने के लिए क्या खाना चाहिए।

अगर आपके मन में भी कुछ इसी प्रकार के सवाल चल रहे हैं, तो आप सही पोस्ट पढ़ रहे हैं। इस पोस्ट आपको बच्चा पैदा करने से सम्बंधित सारी जानकारी दी जाएगी।

बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए
बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए

बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए – Bacche Paida Karne Ke Liye Kitni Baar Karna Chahiye

वैवाहिक जीवन में हर कपल्स की शारीरिक सम्बन्ध बनाने की टाइमिंग और प्रक्रिया अलग-अलग हो सकती है। कुछ लोग हफ़्ते में एक-दो बार शारीरिक सम्बन्ध बनाते हैं तो कुछ महीने में एक से दो बार।

अगर आपकी शादी हो गई है और आप जल्दी बच्चा प्लानिंग कर रह हैं तो पुरुष को महिला के ओवुलेशन टाइम में शारीरिक सम्बन्ध बनाना चाहिए। आमतौर पर महिलाओं का मासिक चक्र 28 दिन या 4 सप्ताह का होता है।

अगर किसी महिला को मुश्किल हो रहा है कि उसका ओवुलेशन टाइम में कब शुरू हो रहा है। तो उसके पीरियड्स शुरू होने से पहले के 14 दिनों का समय ओव्यूलेशन टाइम होता हैं। अगर कोई पुरुष ओवुलेशन के पांच दिन पहले से लेकर ओवुलेशन के दिन तक शारीरिक संबंध बनाता है तो महिला के प्रेगनेंट होने की संभावना सबसे ज्यादा होती है।

ओवुलेशन के टाइम में महिलाओं के अंडाशय से अंडा निकलता हैं। यह अंडा गर्भाशय के रास्ते में फैलोपियन ट्यूब चला जाता है और इस समय जब पुरुष के शुक्राणु अंडे से मिलते हैं तो प्रजनन की संभावना सबसे अधिक होती है जिससे महिला के प्रेग्नेंट होने के चांसेज सबसे ज्यादा होते हैं।

अगर आप अब भी सोच रहे हैं कि बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए तो इसका कोई सटीक जवाब नही है। महिला के प्रेग्नेंट होने का सही और अच्छा समय ओव्यूलेशन टाइम होता है। ओव्यूलेशन से पांच दिन पहले और ओव्यूलेशन के दिन तक बच्चा पैदा करने का बिल्कुल सही टाइमिंग होता है। इन दिनों जब कोई पुरुष अपनी लाइफ पार्टनर के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनता है तो प्रेग्नेंट होने के चांसेज सबसे ज्यादा होते हैं।

बच्चे पैदा करने के लिए हफ़्ते में 2 से 3 बार शारीरिक सम्बन्ध बनाना पर्याप्त है। प्रेग्नेंसी की संभावनाओ को बढ़ाने के लिए आपको शारीरिक सम्बन्ध बनाने की टाइमिंग के अलावा अन्य बातों का भी ध्यान रखना चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि बच्चे पैदा करने के लिए किन-किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए।

(1) पीरियड का समय

एक महिला के गर्भधारण करने में उसके पीरियड्स का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। महिलाओं के पीरियड्स हर महीने आते हैं, जब उसके पीरियड्स सही समय पर और सही तरीके से आते है तो गर्भधारण तभी कर सकती है।

महिला के पीरियड्स खत्म होने के बाद 1 सप्ताह बाद ओवुलेशन का समय होता है। इस दौरान शारीरिक सम्बन्ध बनाने से महिला के प्रेगनेंट होने के चांसेस बढ़ जाते हैं।

(2) गर्भनिरोधक का प्रयोग ना करें

अगर आप बच्चा प्लानिंग कर रह हैं तो उससे साल भर पहले से ही गर्भनिरोधकों का प्रयोग न करें। जब कोई महिला लम्बे समय से लगातार गर्भनिरोधकों का इस्तेमाल करती है तो इसका असर उसके ओव्यूलेशन प्रक्रिया पर पड़ता है। जिसकी वजह से गर्भधारण करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

इसलिए बच्चे पैदा करने के लिए आपको सबसे पहले गर्भनिरोधकों से दूरी बना लेनी चाहिए और हफ्ते में 2-3 बार शारीरिक संबंध बनाएं।

(3) लुब्रिकेंट्स का प्रयोग ना करें

अगर आप बच्चे पैदा करना चाहते हैं तो लुब्रिकेंट्स का प्रयोग ना करें। कई लोग ऐसे होते हैं जो ज्यादा मजा लेने के लिए लुब्रिकेंट्स इस्तेमाल करते हैं। लेकिन लुब्रिकेंट्स स्पर्म को ओवरी तक नहीं पहुचने देते हैं। ऐसे में महिला के गर्भधारण करने की संभावना कम हो जाती है।

इसलिए अगर अगर कोई महिला गर्भवती होना चाहती है तो उसे शारीरक सम्बन्ध के दौरान किसी भी प्रकार का लुब्रिकेंट्स इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

(4) संतुलित आहार

बच्चे पैदा करने के लिए के लिए पति-पत्नी को रोजाना संतुलित आहार लेना चाहिए। आपको रोजाना ऐसा भोजन करना चाहियें जिनमे सभी प्रकार के पौष्टिक तत्व मौजूद हो। इससे आपका शारीरिक स्वस्थ और हेल्थी रहेगा और महिला के गर्भधारण करने की सम्भावना बढ़ जाती है।

कई लोग ऐसे होते हैं जो घर का खाना छोड़कर बाहर का खाना ज्यादा पसंद करते हैं। पिज़्ज़ा, बर्गर, जंक फूड जैसे अन्हेल्दी खाना खाने से आपके स्वास्थ पर बुरा असर पड़ता है गर्भधारण की संभावनाओं पर भी असर होता है। इसलिए आपको रोजाना हेल्दी डाइट ही फॉलो करना है।

(5) तनाव मुक्त रहें

अगर आप बच्चे प्लानिंग करने का मन बना रहे है, तो आपको तनाव मुक्त रहना चाहिए। अत्यधिक तनाव लेने से कई तरह की स्वास्थ संबंधी समस्याएँ होने लगती है जैसे कि- थायराइड, पीसीओडी या पीसीओएस, डायबिटीज आदि बीमारियाँ होने का खतरा बढ़ जाता है।

अत्यधिक तनाव लेने से शरीर का हार्मोनल संतुलन बिगड़ता है जिसके कारण गर्भधारण करने में परेशानी हो सकती है। इसलिए प्रेग्नेंसी की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए आपको तनाव मुक्त रहना चाहिए।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए। ऐसा नहीं है कि गर्भधारण करने लिए आपको रोजाना शारीरिक सम्बन्ध बनाने की ज़रूरत है। अगर आप ओव्यूलेशन के समय शारीरक सम्बन्ध बनाते हैं गर्भवती होने की संभावना सबसे ज्यादा होती है। इसके अलावा, हफ़्ते में 2-3 बार शारीरिक सम्बन्ध बनाना भी पर्याप्त है। इसके अलावा सही खान-पान, सही दिनचर्या और नियमित व्यायाम करने से प्रेग्नेंसी की संभावनायें बढ़ जाती है।

अगर आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल या सुझाव हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। अगर यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे सोशल मीडिया पर भी शेयर करें।

इन्हें भी पढ़ें–

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *